मंत्रिमंडल विस्तार पर बिहार में गरमाई सियासत, बीजेपी विधायक ने मंत्रिमंडल को बताया सवर्ण विरोधी मंत्रिमंडल…

डेस्क : सरकार गठन के 84 दिन बाद हो रहा नीतीश सरकार का मंत्रिमंडल विस्तार विवादों में घिर गया है। एनडीए गठबंधन के आंतरिक मतभेदों को सुलझाकर यह मंत्रिमंडल विस्तार किया तो जा रहा है लेकिन, अब इससे कई नेता असंतुष्ट नजर आ रहे हैं। भाजपा के कद्दावर नेता ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने इस विस्तार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

ज्ञानू ने बताया सवर्ण विरोधी मंत्रिमंडल- बाढ़ से भाजपा के विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने मंत्रिमंडल में जगह नहीं दिए जाने पर भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने अपनी पार्टी पे संगीन आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा को कुछ लोगों ने अपनी पॉकेट की पार्टी बना दिया है। ज्ञानू ने अपनी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहा कि पार्टी को सिर्फ यादव और बनिया की पार्टी बना दिया गया है। उन्होंने कहा कि यह सवर्ण विरोधी मंत्रिमंडल है।

आज है मंत्रिमंडल विस्तार- सरकार गठन के लगभग 3 महीने बाद मंगलवार को बिहार में मंत्रिमंडल का विस्तार होना है। एनडीए के अंदर 3 महीने तक चले मंथन के बाद आज भाजपा के 9 तथा जदयू के 8 मंत्री शपथ लेंगे।