इतिहास के पन्नो में सिमट जाएगा पटना मीठापुर बस स्टैंड, 25 एकड़ में फैले नये बस स्टैंड जाने की जान लें रूट

Bihar New Bus Stand

डेस्क : पटना स्थित मीठापुर बस स्टैंड अब पूरी तरह से बंद हो गया। बिहार में लंबे अरसे से पटना के मीठापुर बस स्टैंड से अलग-अलग जिलों जाने के लिए यही बसों की आवाजाही होती थी। लेकिन, अब यह बस अड्डा सिर्फ एक इतिहास बनकर रह जाएगा। बताते चलें कि अब यात्रियों को बसे पकड़ने के लिए थोड़ी लंबी दूरी तय करनी पड़ेगी। सरकार ने बाईपास रोड पर ही थोड़ा और पूरब की ओर पटना-गया बाईपास रोड में रामचक बैरिया के पास नया और आधुनिक बस स्‍टैंड बनाया है। बताया जा रहा है कि इस बस स्‍टैंड में सुरक्षा, यात्री प्रतीक्षालय, बस के आगमन और प्रस्‍थान के लिए प्‍लेटफार्म और अनाउंसमेंट सिस्‍टम समेत सभी बुनियादी सुविधाएं उपलब्‍ध हैं। पटना डीएम चंद्रशेखर सिंह के निर्देश पर शनिवार से मीठापुर बस पड़ाव से बसों का परिचालन पूरी तरह से रोक दिया गया। मीठापुर बस स्टैंड को नवनिर्मित पाटलिपुत्र बस टर्मिनल में शिफ्ट कर दिया गया।

पहले दिन इतने बसों की आवाजाही हुई शुरू: प्राप्त जानकारी के अनुसार, नए रामचक बैरिया स्टैंड से बसों का परिचालन शुरू कर दिया गया। शनिवार शाम तक राज्य के विभिन्न जिलों के नए स्टैंड से 1320 बसों की आवाजाही हुई। 737 बसों का आगमन, जबकि 583 बस अपने गंतव्य के लिए टर्मिनल से रवाना हुए। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के भी 52 बसों का परिचालन नवनिर्मित टर्मिनल से हुआ।

नया बस टर्मिनल 25 एकड़ में फैला हुआ है जानकारी देते हुए पटना डीएम ने बताया कि मीठापुर बस स्टैंड से बेहतर एवं आधुनिक सुविधा पाटलिपुत्र बस टर्मिनल पर मुहैया कराई गई है। मीठापुर बस स्टैंड 8 एकड़ में फैला हुआ था, जबकि नए आइएसबीटी 25 एकड़ में। इसमें 10 एकड़ में भवन का निर्माण कर आवश्यक सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। करीब 11 एकड़ में बसों की पार्किंग की व्यवस्था है।

You may have missed

You cannot copy content of this page