मुखिया हो तो ऐसा ! गांव में एयरपोर्ट, कुंवारे लड़कों को बाइक और लड़कियों को फ्री ब्यूटी पार्लर : भावी मुखिया जी का घोषणापत्र पढ़ के लोटपोट हो जाओगे आप

Ghoshna Patra

न्यूज डेस्क : बिहार में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव का आरंभ हो चुका है, चुनाव के पहले चरण की नामांकन भी पूरी हो चुकी है। अब ऐसे में भावी एवं जीते हुए प्रत्याशी जनता को अपनी ओर लुभाने के लिए नए-नए तरीके अपना रहे हैं, इसी बीच सोशल मीडिया (Social Media) पर एक प्रत्याशी का घोषणा पत्र वायरल हो रहा है, जिसमें जनता को लुभाने के लिए ऐसे ऐसे वादे किए हैं, जिसे पढ़ने के बाद आप भी हंसने पर मजबूर हो जाएंगे। तो चलिए आपको उस पोस्टर के बारे में विस्तारपूर्वक बताते हैं।

बता दें कि सोशल मीडिया पर जो पोस्टर वायरल हो रहा उस पोस्टर के स्लोगन में लिखा हुआ है ” आप रखिए हम पर विश्वास, एक-एक का होगा विकास” ग्राम पंचायत राज मकसूदा से मुखिया पद के भावी उम्मीदवार सुयोग्य, शिक्षित एवम युवा तुफैल अहमद. बता दे की ये उक्त बातें भावी प्रत्याशी अपने पोस्टर के स्लोगन में लिखे हुए हैं। साथ ही साथ इस भावी प्रत्याशी ने जो जो घोषणाएं की है। वह भी आपको बताते हैं। इस पोस्टर में कुल 7 घोषणाएं लिखी हुई है, जिसमें वो सरकारी नौकरी से लेकर महीना तक देने की बात कर रहे हैं। बता दें कि जब से सोशल मीडिया यह पोस्टर वायरल हुआ है, तब से लोग यह पोस्टर का मीम बनाकर जोरों शोरों से अलग-अलग साइट पर शेयर कर रहे है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह पोस्टर मुजफ्फरपुर जिले के 1 गांव का बताया जा रहा है। वही जिस युवक का नाम लिखा है, उन्होंने कहा कि किसी ने उनके साथ ये भद्दा मजाक किया है। जबकि, औराई थानेदार राजेश कुमार का कहना है इसकी जांच की जा रही है। फिलहाल इस वायरल पोस्टर की चर्चा सभी जगह हो रही है।

ये रहा मुखिया जी के अजीबगरीब घोषणाएं:

  1. मुखिया बनते ही गांव के सभी लोगों को सरकारी नौकरी लगवाएंगे
  2. गांव में हवाई अड्डे की भी सुविधा होगी
  3. प्रत्येक सिंगल युवा को एक-एक अपाचे बाइक और पांच हजार रुपए प्रतिदिन भत्ता सीधे खाते में देंगे
  4. लड़कियों को फ्री ब्यूटी पार्लर और एक सिलाई मशीन की व्यवस्था होगी
  5. नल जल योजना में पानी की जगह दूध की सप्लाई होगी
  6. बुजुर्गों के लिए प्रतिदिन एक-एक पैकेट तम्बाकू और बीड़ी की व्यवस्था होगी
  7. गांव में रोड के साथ खेतों में टाइल्स लगाकर शहरीकरण करेंगे

You may have missed

You cannot copy content of this page