बिहार से रेल की सवारी कर लीची पहुंच रहा अन्य राज्य के लोग ले रहे आनंद, किसानों को फायदा और रेल को मिल रहा राजस्व

Litchi

न्यूज डेस्क : बिहार मुज्जफरपुर का लीची पूरे वर्ल्ड में फेमस है । लोग इसे चाव से खाते हैं। वहीं अब लीची को बिहार से बाहर अन्य जगहों पर ट्रेनों में भेजा जा रहा है। बताते चलें कि सोनपुर मंडल रेल प्रबंधक अनिल कुमार गुप्ता के दिशा निर्देशन एवं वरीय मंडल वाणिज्य प्रबंधक चंद्रशेखर प्रसाद के कुशल नेतृत्व में बिजनेस डेवलपमेंट यूनिट के सार्थक प्रयास से व्यापारियों का रेल परिवहन के प्रति सकारात्मक रुझान उत्पन्न हो रहा है।

जिससे जिन चीजों का उनके द्वारा सड़क मार्ग से भेजा जा रहा था।उसे अब रेल परिवहन से भेजा जाने लगा है।उल्लेखनीय है कि 9 मई से अब तक मुजफ्फरपुर जंक्शन से लूज पार्सल के माध्यम से लगभग 593 क्विंटल लीची लोकमान्य तिलक,बरोदरा,अमृतसर ,दिल्ली,हावड़ा एवं कोलकाता समेत कई स्टेशनों को भेजा गया।जिससे रेलवे को रुपये 2,27,297 का राजस्व प्राप्त हुआ।विदित हो तीन साल बाद डिमांड पार्सल वैन द्वारा मुजफ्फरपुर जंक्शन से लोकमान्य तिलक के लिए लीची भेजी जा रही है।इससे बिहार के व्यापारियों एवं उपभोक्ताओं दोनो को लाभ मिलेगा।

डिमांड पार्सल वैन द्वारा केवल पिछले तीन दिनों में ही 720 क्विंटल लीची भेजा गया जिससे रेलवे को 3,40,200 रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ।इस प्रकार अब तक 1313 क्विंटल लीची की लोडिंग की गई।जिससे रेलवे को 5,67,497 रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ।रेल द्वारा फलों की सफल ढुलाई से प्रेरित होकर अब बड़ी संख्या में व्यापारी रेलवे के पास जानकारी लेने के लिए पहुँच रहे है तथा इसके प्रति सकारात्मक प्रतिकिया दे रहे हैं।

You cannot copy content of this page