January 21, 2022

25 दिसंबर को अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती पर होगा मुंगेर पुल का उद्घाटन, नीतीश-गडकरी रहेंगे मौजूद, तैयारी जोरो पे..

Munger Bridge

डेस्क: देश के पूर्व दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती (25 Dec 2021) के मौके पर बिहार के लोगों को एक बड़ी सौगात मिलने जा रही है। दरअसल, इसी दिन मुंगेर और बेगूसराय के बीच गंगा नदी के ऊपर बने मुंगेर पुल का उदघाटन होने जा रहा है, जिसका इंतजार क्षेत्र वासियों को करीब 19 वर्षों से था, विदित हो कि 18 साल पहले मुंगेरवासियों के कई आंदोलन के बाद दक्षिण बिहार और उत्तर बिहार को जोड़ने के लिये तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी गंगा नदी पर बने रेल सह सड़क पुल का शिलान्यास किया था।

इन लोगों की मौजूदगी में होगा उद्घाटन: बता दे की 25 दिसंबर यानी शनिवार को पुल का लोकार्पण होना है, जिसका उद्घाटन समारोह मुंगेर के लाल दरवाजा स्थित एक कार्यक्रम के तहत होगा, जिसमें कई राजनेता उपस्थित होंगे, सीएम नीतीश कुमार तथा सड़क केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के द्वारा वर्चुअल माध्यम से शिलान्यास किया जाएगा। जबकि, कार्यक्रम की अध्यक्षता बिहार सरकार के पथ निर्माण विभाग मंत्री नितिन नवीन के द्वारा किया जाएगा। वही उपस्थिति के रूप में बिहार के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद, रेनू देवी, पंचायती राज मंत्री सम्राट चौधरी, मुंगेर के सांसद राजीव रंजन, खगड़िया सांसद चौधरी महबूब अली कैसर, एनके यादव, समीर कुमार सिंह, संजीव कुमार सिंह, प्रणव कुमार, इत्यादि।

पुल का यह काम तेजी से जारी है: जानकारी के मुताबिक, मुंगेर रेल सह सड़क पुल के एप्रोच पथ के उद्घाटन की तिथि नजदीक आते ही काम में तेजी बढ़ा दी गई है, बेगूसराय की ओर पुल से एप्रोच रोड को कनेक्ट का काम पूरा हो चुका है। जबकि, बुधवार को मुंगेर में पुल को एप्रोच पथ से कनेक्ट करने के लिए पहला गार्डर चढ़ाया गया। दूसरा गार्डर गुरुवार की सुबह तक चढ़ाकर पुल से एप्रोच पथ को कनेक्ट कर दिया जाएगा।

पुल यह काम अभी बाकी है: बता दे की पुल का अभी भी तकनीकी और गैर तकनीकी पक्ष का काम शेष है। तकनीकी मतलब अभी एप्रोच रोड को पुल से जोड़ने वाले दो स्टील गार्डर को पुल से जोड़ने का काम बाकी है। बुधवार को एक स्टील गार्डर को भारी क्रेनों की मदद से पुल पर चढ़ाया गया। जबकि, गुरुवार को दूसरा गार्डर भी चढ़ा दिया जायेगा। इसके बाद उसपर कंक्रीट से ढलाई की जायेगी। गार्डर और पुल के बीच के गैप में प्लेट और स्प्रींग फिट किया जायेगा, ताकि गाड़ियां आसानी से पुल पर दौड़ सके।

दिन रात चल रहा है तेजी से काम: मिली जानकारी के मुताबिक, पुल का काम 24 घंटा किया जा रहा है, वही गैर तकनीकी अंतर्गत मुंगेर के तेलिया तालाब से शुरू हुए एप्रोच रोड पर बनाए गये पुल और ओवरब्रिज में बालू और मिट्टी भरायी का कार्य तेजी से किया जा रहा है। 65 से ज्यादा हाइवा बालू और मिट्टी गिराने के काम में दिन रात लगे हैं। अधिकारियों के मुताबिक, ओवरब्रिज पर बालू और मिट्टी भरने के काम पूर्ण होते ही उसपर पत्थर युक्त मोरंग बिछाया जायेगा।

18 वर्षों का सपना होगा साकार: बता दे की यह पुल का लोकार्पण से क्षेत्र वासियों का कई बरसों का सपना पूरा होगा, मुंगेर घाट पर 14.51 KM लंबे टू लेन रेल सह सड़क पुल का निर्माण कार्य NHAI कर रहा है, राजेन्द्र सेतु और जेपी सेतु के बाद राज्य में गंगा नदी पर यह तीसरा रेल सह सड़क पुल होगा। पुल का लोकार्पण से बेगूसराय और खगड़िया की दूरी मुंगेर से काफी कम हो जाएगी, मुंगेर से खगड़िया और बेगूसराय का सफर कुछ मिनटों में तय हो सकेगा, इससे मुंगेर के विकास में चार चांद लग जाएगा।

You cannot copy content of this page
Mushrooms Benifits : मशरूम से जुड़ी कुछ खास बातें सादगी में खूबसूरती बिखेरती रकुल प्रीत सिंह टीवी की विलेन के तौर पर मशहूर हुईं ये अभिनेत्रियां,आइए जानें दिशा वकानी से मोहिना कुमारी तक, परिवार के लिए छोड़ी एक्टिंग Jaggry rice Recipe : सर्दियों में झटपट बनाएं गुड़ के चावल