शादी व्याह में फिर से जुट सकेगा भीड़, नया नियम लागू करने का हो रहा विचार

Shadi

डेस्क : अब लोगों को अपने जीवन शैली में परिवर्तन लाना पड़ेगा। क्योंकि कोरोना ने मानवीय जिंदगी में उथल पुथल मचा दिया है। फिलवक्त देश और विश्व कोरोना के आपदा से जूझ रहा है। विगत मार्च महीने से सभी शादी – विवाह , राजनीतिक , सामाजिक , भीड़भाड़ बाले कार्यक्रम सहित सार्वजनिक कार्यक्रमों पर अभी भी या तो रोक लगी हुई या तय नियम के मुताबिक निपटाने की छूट दी गयी है। लेकिन अब इन सभी चीजों के लिए सरकार स्थायी नियम बनाने का विचार कर रही है।

शादी में आ सकेंगे पहले इतना मेहमान बताते चलें कि लॉक डाउन अनलॉक होने के उपरांत शादी विवाह करने की अनुमति तो सरकार के द्वारा दी गयी थी। लेकिन उसमें बंदिश है कि मेजबान और मेहमान की कुल संख्या 50 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए । सूत्र के मुताबिक अब शादी विवाह के लिए मनमुताबिक भीड़ जुटाने की छूट दी जा सकती है। बशर्ते जितनी संख्या लोगों की जूट सके जगह उससे दोगुने लोगों के इतना होना चाहिए। सम्भवतः यह नियम अब शादी व्याह में लागू हो सकते हैं।

ऐसे समझिए : मान लीजिये मोहन ( काल्पनिक नाम ) के घर पर किसी की शादी आयोजित हो रही है और 500 लोगों के आने की संभावना है तो करीब 1000 से ज्यादा लोगों के इतना स्पेस का पंडाल निर्माण करवाना अनिवार्य होगा ताकि दो गज की दुरी बन सके ।