नितीश सरकार का बड़ा फैसला : बिहार में अब 18 तक स्कूल कॉलेज बंद, सभी दुकाने 7 बजे तक खुले रहेंगे, यहां जाने पूरी डिटेल..!

CM Nitish

डेस्क : देश में बढ़ते करोना महामारी को लेकर पूरे देश की जनता त्राहिमाम है। देश के अलग-अलग हिस्सो में कहीं लोक डॉन तो कहीं नाइट का कर्फ्यू लगा दिया गया। इसी बीच बिहार में बढ़ते करोना प्रकोप ले लेकर नीतीश सरकार ने एक बहुत बड़ा फैसला लिया है। खबर यह है कि अब बिहार में सभी दुकानों को शाम 7 बजे के बाद बंद करने का एलान किया गया है। साथ ही 30 अप्रैल तक राज्य में कोरोना की नई गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। गाइडलाइंस के अनुसार सुबे के सभी स्कूल-कॉलेज को 18 अप्रैल तक बंद करने का एलान कर दिया है। सीएम ने प्रशासनिक टीम को इसे सख्ती से लागू करने का आदेश दिया है।

बैठक में सीएम ने यह निर्णय लिया… शुक्रवार को कोरोना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की गई है। जिसमें नीतीश कुमार ने बताया कि देश-दुनिया में कोरोना तेजी से फ़ैल रहा है। बिहार में भी मामला तेजी से बढ़ रहा है। पटना में भी कोरोना की रफ़्तार तेज है। मुख्यमंत्री ने कहा किसी भी दुकान और प्रतिष्ठान शाम 7 बजे तक ही खुले रहेंगे। सभी दुकानों में मास्क पहनना जरूरी है। दुकानकर्मियों और ग्राहकों के लिए सैनिटाइजर की व्यवस्था जरूरी होगी। सोशल डिस्टेंसिंग का खासा ध्यान रखा जाएगा। रेस्टोरेंट, भोजनालय और ढ़ाबा में निर्धारित संख्या के 25 फीसदी ही लोगों को ही बैठाया जाएगा।

बिहार में 11 अप्रैल से 14 अप्रैल के बीच टीका उत्सव मनाया जायेगा. मुख्यमंत्री ने बताया कि बिहार के रहने वाले कई लोग बाहर भी हैं। वे लोग भी बाहर से बिहार आ रहे हैं। बिहार सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है। सरकार ने रेलवे स्टेशन पर ही टेस्टिंग की खास व्यवस्था की है। जो लोग पॉजिटिव पाए जायेंगे, उनके इलाज की व्यवस्था की गई है। बिहार सरकार अधिक से अधिक टेस्ट कराने पर फोकस कर रही है। सीएम ने कहा कि 11 अप्रैल से 14 अप्रैल के बीच टीका उत्सव मनाया जायेगा।

बिहार में करोना की रफ्तार दिन प्रतिदिन बढ़ रही है.. बिहार में बीते दिन रिकार्ड 1911 मरीज मिलने के बाद राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 7504 हो गई है। राज्य कोरोना पॉजिटिव की रिकवरी दर 96.68 है। अब तक कुल 2,64, 730 मरीज ठीक हुए हैं. इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को ही कहा था कि राज्य के बाहर से आने वाले हर व्यक्ति की कोरोना जांच होगी। रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी उन्हें कुछ दिनों के लिए अलग रखा जायेगा। सीएम ने कहा कि दुनिया के अन्य देशों की तुलना में कोरोना से होने वाली मृत्यु की दर भारत में कम है।

You cannot copy content of this page