युवाओं को व्यवसाय से जुड़ने के लिए पांच लाख तक का अनुदान देगी नीतीश सरकार

Nitish Kumar

डेस्क : बिहार में नई सरकार बनने के बाद अगले पांच साल के सरकार के कार्य की योजना बनाई गई है। नीतीश कैबिनेट (Nitish Cabinet) में कई अहम निर्णय लिए गए हैं। इसके तहत 15 एजेंडों पर मुहर लगी है। आत्मनिर्भर बिहार और सात निश्चय पार्ट-2 सहित सुशासन के कार्यक्रम को लेकर बिहार कैबिनेट में सभी कार्यक्रम पर सहमति दी है। सभी शहरों में बुजुर्ग लोगों के लिए बहुमंजिला इमारत बनेंगे और हृदय में छेद के साथ जन्मे बच्चों के लिए निशुल्क उपचार के प्रस्ताव पर भी सहमति प्रदान की गई है।बीते 16 नवंबर को नई सरकार बनने के बाद नीतीश कैबिनेट की यह दूसरी बैठक थी।

सुशासन के कार्यक्रम अगले 5 सालों में रोजगार वितरण करने के कई संसाधनों पर मुहर लगाई गई है।इसके साथ ही बिहार में कोरोना के फ्री में टीका दिए जाने पर कैबिनेट की मंजूरी मिल गई है। वहीं, 20 लाख रोजगार का सृजन की बात भी कही गई है। आईटीआई एवं पॉलिटेक्निक संस्थानों में ट्रेनिंग गुणवत्ता बढ़ाने के लिए सेंटर बनाने को भी स्वीकृति प्रदान की गई है। इसके साथ ही स्किल डेवलपमेंट एवं उद्यमिता पर विशेष बल दिए जाने के प्रस्ताव पर भी सहमति बनी है।

इसके अतिरिक्त तकनीकी शिक्षा को हिंदी भाषा से जोड़े जाने व युवाओं को व्यवसाय से जुड़ने के लिए पांच लाख तक का अनुदान दिए जाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी प्रदान की गई है।अनुदान पर 50 परसेंट का सब्सिडी मिलेगा। वहीं, अविवाहित महिलाओं को इंटर पास होने पर 25000 और ग्रेजुएशन पास करने पर 50000 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी।

You cannot copy content of this page