बिहार में फिर से सक्रिय हो रहा मॉनसून : 48 घंटों में भारी बारिश के आसार, वज्रपात की भी आशंका, इन जिलों में येलो अलर्ट

Weather Alert Bihar

न्यूज डेस्क : बिहार में मानसून फिर से धीरे-धीरे सक्रिय होने लगा है। पटना मौसम विभाग की माने तो सूबे में अगले दो से तीन में भारी बारिश और वज्रपात की स्थितियां बन सकती है। मौसम विज्ञान केंद्र का कहना है कि 26 व 27 जुलाई को बिहार में झमाझम बारिश के साथ आकाशीय बिजली गिरने की आशंका है। विभाग ने पूरे प्रदेश में अगले दो से तीन दिन के लिए येलो अलर्ट जारी कर दिया है। पटना,बेगुसराय, समेत 11 जिलों में भारी बारिश हो सकती है। राज्‍य मौसम विभाग के मुताबिक, गया और बक्सर में 27 जुलाई को बहुत तेज बारिश के आसार हैं। विज्ञान केंद्र के अनुसार, बंगाल की खाड़ी क्षेत्र की ओर कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है।

मानसून ट्रफ रेखा से गुजर रही है: विभाग का पूर्वानुमान है कि अनूपगढ़ से पश्चिम बंगाल तक जाने वाली ट्रफ रेखा के बिहार के संपर्क में आते ही मानसूनी बारिश हो सकती है। मानसून की ट्रफ रेखा अनूपगढ़, सवाई माधवपुर, झांसी, रीवा, अम्बिकापुर होते हुए उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी में बने कम दबाव के क्षेत्र से गुजर रही है। परन्तु, इसका प्रभाव अगले 48 घंटे से 72 घंटे में बिहार में कम देखने को मिल सकता है। यानी राज्य के एक दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश का पूर्वानुमान है। जैसे ही यह ट्रफ रेखा बिहार की बढ़ेगी मानसूस की सक्रियता बढ़ जाएगी। इसके साथ ही बिहार में चौथे और पांचवे दिन गरज के साथ आकाशीय बिजली व मध्यम से भारी बारिश पूरे राज्य में देखने को मिल सकता है।

लगातार गर्मी और उमस की स्थिति बढ़ रही हैं: पटना मौसम विभाग की माने तो मानसून सक्रिय नहीं होने के कारण तापमान और उमस में बढ़ोतरी हो रही है। बिहार में अधिकतम तापमान सामान्य से 2 से 3 डिग्री सेंटीग्रेट अधिक रिकॉर्ड किया गया है। अगले 48 घंटे तक अधिकतम तापमान की यही स्थिति बनी रहेगी। इस बीच तपिश से बिहार के एक दो स्थानों पर बारिश के बादल बन सकता है। जहां कुछ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। नमी के कारण ऐसी स्थिति बन सकती है। हालांकि, मानसूनी बारिश की तरह वर्षा नहीं होगी।

You may have missed

You cannot copy content of this page