भारत-चीन सीमा पर शहीद वैशाली का जवान,दो साल पहले ही सेना में भर्ती हुए थे

डेस्क : लद्दाख के गलवान घाटी के पास सोमवार की देर रात चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए। इस घटना में बिहार के भी 5 जवान भी शहीद हो गए, इसमें से एक जवान वैशाली जिले का रहने वाले किशोर सिंह भी है जो 2018 में सेना में भर्ती हुए थे।अपने देश की रक्षा करते हुए किशोर सिंह जी शहीद हो गए हैं किशोर सिंह वैशाली जिले के जंदाहा थाना क्षेत्र के चकफतेह गांव के रहने वाले थे यह चार भाइयों में दूसरे नंबर पर थे।

आपको बता दें कि इनके बड़े भाई भी सेना के जवान में है और इनके पिता राज कपूर किसान है। मात्र दो साल पहले ही सेना में भर्ती हुए थे और उनकी शहादत की खबर सुनकर पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है,अभी यह अविवाहित हैं। अपने देश की खातिर भारत के 20 जवान शहीद हुए।आपको बता दें कि चंचौरा के संजय, भोजपुर के कुंदन ओझा जो मूल रूप से बिहिया थाना क्षेत्र के पहरपुर गांव के रहने वाले रविशंकर ओझा के पुत्र थे,उनका परिवार करीब 30 साल से झारखंड राज्य के साहिबगंज में रहा है।

मंगलवार की शाम खबर मिलते हैं गांव गमगीन हो उठा, कुंदन अपने पहले बच्चे को देखने से पहले ही शहीद हो गए। इसके बाद सहरसा के कुंदन कुमार भी वीरगति को प्राप्त हो गए।इन लोगों के परिजनों को तो विश्वास ही नहीं हो रहा था कि उनका बेटा शहीद हो गया है जब अधिकारियों ने इन लोगों को फोन करके सूचना दी तब हर कोई समाचार सुनने और जानकारी इकट्ठा करने मे लग गया।