जिस तरह भगवान दिखते नहीं उसी तरह बिहार में शराब दिखती नहीं लेकिन बिकती सब जगह है

Sharab Bandi

न्यूज डेस्क : राज्य के लोकप्रिय मुख्यमंत्री सुशासन नीतीश कुमार शराब की समीक्षा कर रहें है, और इधर पटना के न्युज चैनल अपने स्ट्रिग ऑपरेशन में चकारम में दिन में ही शराब बिक रहा है और हाजीपुर में कई जगहों पर शराब की बिक्री टीवी चैनलों पर दिख रहा है। सुशासन की सरकार में ‘भक्ति और शक्ति‘ लोकप्रिय है। जिस तरह भगवान दिखते नहीं उसी तरह शराब दिखती नहीं है, लेकिन बिकती सब जगह है।

उक्त आरोप लगाते हुए बिहार युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष व सुलतानगंज विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी ललन कुमार ने कहा कि ये सुशासन की भक्ति है। राज्य में पुलिस सब जगह है, सरकार के अपेक्षित अपराधी हत्या करते रहते हैै। ये शक्ति का उदाहरण है। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य आषिफ गफुर, शंकर स्वरुपप मे पूर्णिया में नवनिर्वाचित जिला पार्षद के पति रिंटू सिंह की नीतीश सरकार की मंत्री के भतीजे ने खुलेआम हत्या करवा दी पर नीतीश कुमार हरकत में आने के बजाय कान में तेल डालकर दूसरी ओर देखने का ढोंग कर रहे हैं। विश्वजीत उर्फ़ रिंटू सिंह पुलिस को मंत्री लेशी सिंह और उसके भतीजे से अपने जान के खतरे को लेकर लिखित रूप में आवेदन दे चुके थे। पर नीतीश कुमार की पुलिस ने ना तो केस दर्ज किया और ना ही उन्हें सुरक्षा प्रदान की। हमारी माँग है इस हत्याकांड में लिप्त लेसी सिंह और एस0एच0ओ0 और पूर्णिया पुलिस की सीडीआर सार्वजनिक की जाए।

बिहार प्रदेश कांग्रेस पुर्व प्रवक्ता राकेष कुमार एवं ऋषि मिश्रा पूर्व विधायक ने एक संयुक्त ब्यान जारी कर कहा की 4 दिन पहले शिवहर में बिहार के पूर्व मंत्री रघुनाथ झा के भतीजे नवीन झा की भी गोली मारकर हत्या कर दी गई। यहाँ जब रसूखदार और सत्ता के क़रीबी सुरक्षित नहीं हैं तो सरकार की नीतियों का विरोध करने वाले और आम आदमी कहाँ से सुरक्षित रहेंगे। चंद दिन पूर्व मोतिहारी में पुलिस कस्टडी में एक छात्रा की मौत हुई। जेडीयू पुलिस के पास कोई जवाब नहीं। ये है बिहार का सुशासन का नमुना अपराध पे लगाम और शराब बंदी पुर्णतः फेल है।

You cannot copy content of this page