बिहार के लाल को मिला सम्मान, सुशांत सिंह राजपूत की फ़िल्म छिछोरे को मिला बेस्ट हिंदी फिल्म का अवार्ड.

डेस्क : 67वें राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार का आयोजन आज नेशनल मीडिया सेंटर में किया गया। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर इस समारोह में राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों के विजेताओं की घोषणा की। इस समारोह में सिर्फ साल 2019 में निर्मित फिल्मों को शामिल किया गया है। दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फ़िल्म को बेस्ट हिंदी फीचर फिल्म के अवार्ड से नवाजा गया है।

सुशांत की छिछोरे बनी हिंदी की बेस्ट फ़िल्म- राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार में दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की फ़िल्म छिछोरे को बेस्ट हिंदी फ़िल्म का पुरस्कार देने का ऐलान हुआ है। सुशांत ने साल 2019 में निर्मित इस फ़िल्म में मुख्य किरदार निभाया था। इनके साथ इस फ़िल्म में श्रद्धा कपूर ने भी अभिनय किया था। डिप्रेशन के मुद्दे पर बनी इस फ़िल्म ने जबरदस्त कमाई कि थी और इस फ़िल्म को क्रिटिक्स ने भी काफी पसंद किया था। सुशांत सिंह राजपूत के जीवित रहते रिलीज होने वाली यह उनकी आखिरी फ़िल्म थी।

इनको भी मिला पुरस्कार- इस बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का अवार्ड मनोज वाजपेयी तथा साउथ के सुपरस्टार धनुष को दिया गया है। सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का अवार्ड कंगना रनौत को उनकी फ़िल्म पंगा और मणिकर्णिका के लिए दिया गया है। सर्वश्रेष्ठ फिल्म का अवार्ड “मरक्कर अरबीकड़ालिंटे सिमहम” को मिला है। सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का अवार्ड संजय पूरण सिंह चौहान को उनकी फिल्म “72 हूरों” के लिए मिला है।

2019 में निर्मित फिल्मों के लिए पुरस्कार- इस बार के समारोह में 2019 में निर्मित फिल्मों के लिए पुरस्कारों की घोषणा की गई। राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों की घोषणा हर बार 3 मई को किया जाता है ,लेकिन कोरोना की वजह से 2020 में यह समारोह आयोजित नहीं किया गया था। इस वजह से 2019 के फिल्मों के लिए राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों की घोषणा आज की गई। इस बार के राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कारों में 1 जनवरी 2019 से लेकर 31 जनवरी 2019 के बीच मे निर्मित फिल्मों को शामिल किया गया था।