जमालपुर का दूसरा सुरंग बनकर हुआ तैयार, पहली बार 40 डब्बे की ट्रेन गुजरी, अब पटना मात्र 4 घंटे में पहुचेंगे..

Munger Rail Surang Completed Soon

न्यूज डेस्क: बिहार के मुंगेर स्थित जमालपुर में राज्य का दूसरा रेल सुरंग 90% बनकर तैयार हो चुका है। अब वह दिन दूर नहीं जब पटना से भागलपुर का सफर कुछ ही घंटों में पूरा हो सकेगा। जानकारी के लिए आपको बता दे की राज्य का पहला रेल सुरंग भी दूसरे रेल सुरंग से महज 20 मीटर दूरी पर स्थित है। जो कि पहला रेल सुरंग अंग्रेजों द्वारा बनाया गया था, जबकि दूसरा रेल सुरंग ऑस्ट्रेलिया की तकनीक से बनाया जा रहा है।

मिली जानकारी के मुताबिक, मंगलवार को पहली बार इस रेल सुरंग से डीजल इंजन ने प्रवेश किया। इंजन सुरंग में एक एक छोर से दूसरी छोर बड़ी ही आसानी से गुजर गया। रेल अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक, रेलवे ट्रैक बिछाने और इसे फिट करने को लेकर पहली बार डीजल इंजन को सुरंग के अंदर भेजा था। पटरी दुरुस्त करने और इंजन के ट्रायल को लेकर रेल प्रशासन तैयारी कर रहा है। अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो नवंबर माह के दूसरे सप्ताह तक नई सुरंग बनकर पूरी तरह तैयार हो जाएगी और नंवबर माह के अंतिम सप्ताह या फिर दिसंबर के प्रथम सप्ताह में रेलवे का सीआरएस निरीक्षण होने की संभावना है। तो फिर दिसंबर माह में ही नई सुरंग से ट्रेनों का परिचालन शुरू हो जाएगा।

बरहाल, हो की फिलहाल, जमालपुर से भागलपुर के बीच एक रेलवे टनल होने के कारण मात्र दो किमी तक सिंगल लाइन से ही रेलगाड़ियों को निकाला जा रहा था। यहां एक ट्रेन के गुजरने के बाद ही दूसरी ट्रेन का प्रवेश होता है। करीब एक दशक पूर्व रेल प्रशासन ने इस सिंगल लाइन को डबल लाइन करने के लिए जमालपुर रतनपुर के बीच दूसरी सुरंग का निर्माण कार्य शुरू किया था। इस सुरंग की लंबाई 903 फीट तथा ऊंचाई लगभग 20 फीट है। नई सुरंग चालू होते ही किऊल से मालदा तक 276 किमी का रेलवे ट्रैक पूरी तरह डबल हो जाएगा।

You cannot copy content of this page