Internet Ban in Bihar : बिहार के इन 20 जिलों में आज भी इंटरनेट सेवा ठप, जानें – कब होगा शुरू..

ban inteer

न्यूज डेस्क: सरकार की योजना अन्विपथ का विरोध पूरे देश में हो रहा है। इसका असर बिहार में अधिक देखने को मिला है। यह विरोध प्रदर्शन दिन प्रतिदिन उग्र होते जा रहा है। बिहार में दर्जनों ट्रेनों को जला दिया गया। बसों व पब्लिक प्रॉपर्टी को नष्ट कर दिया गया। इस हिंसात्मक विरोध हो फैलने से रोकने के लिए राज्य के बक्सर समेत 20 जिलों में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। वहीं इस इंटरनेट के जमाने में नेट के आदी युवा जुगाड़ को अपना रहे हैं।

इंटरनेट नेट की सेवा बंद होने पर बक्सर युवाओं ने नेट का जुगाड़ लगा लिया है। इंटरनेट चलाने के लिए लोग गंगा मैया की शरण ले रहे हैं। यानी गंगा किनारे जा रहे हैं। बक्सर का गंगा किनारे वाला क्षेत्र यूपी बॉर्डर से सटा हुआ है। जिस कारण से युवाओं को नेटवर्क मिल पा रहा है। गंगा किनारा यूपी का क्षेत्र है। ऐसे में यूपी वाला इंटरनेट आसानी से चल रहा है। इंटरनेट के जुगाड़ में बक्सर के दर्जनों युवा गंगा किनारे अड्डा जमा रहे हैं।

युवाओं का कहना है कि निजी नौकरियों और जरूरी चीजों के लिए इंटरनेट सेवा बंद कर दिए जाने पर काफी परेशानियों का सामना करना पर रह है। ऐसे में सिर्फ यूपी का नेटवर्क ही सहारा बचा है। बतादें कि इंटरनेट सेवा पर पाबंदियां 19 तारिक तक थी जो कि 24 घंटे और बढ़ा दिए गए हैं।

इन 20 जिलों में नेट बंद कर दिया गया है : इनमें कैमूर, भोजपुर, औरंगाबाद, रोहतास, बक्सर, नवादा, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, समस्तीपुर, लखीसराय, बेगूसराय, वैशाली, सारण, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, गया, मधुबनी, जहानाबाद, खगड़िया और शेखपुरा है।Vआपको बता दे की अग्निपथ स्कीम को लेकर बिहार में 3 दिनों से जमकर उपद्रव हुआ। इसके बाद 15 जिलों में 19 जून तक इंटरनेट बंद कर दी गई थी। 3 दिन के बवाल के बाद रविवार का दिन शांतिपूर्ण रहा। सभी जिलों में जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती कर दी गई।

ये भी पढ़ें   Bihar में अब जमीन का सारा कागज़ होगा डिजिटल - खतियान से लेकर जमाबंदी तक सब होगा ऑनलाइन..