बेगूसराय समेत बिहार के इन 15 जिलों में NHAI 7 दिनों में लगायेगा ऑक्सीजन प्लांट, सबसे तेज प्रक्रिया से होगा उत्पादन

Oxygen Bihar

न्यूज डेस्क : कोरोनाकाल पार्ट 2 में पूरे देश में ऑक्सीजन की डिमांड बढ़ी है। उपलब्ध ऑक्सीजन नाकाफी साबित होने पर युद्धस्तर पर ऑक्सीजन की डिमांड फूल फील करने की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में बिहार राज्य को बड़ी राहत मिलने की संभावना है। दरअसल राष्ट्रीय राजमार्ग ( NATIONAL HIGHWAYS ) बनाने वाली एजेंसी एनएचएआई ( NHAI ) ने इसके लिए युद्ध स्तर पर काम शुरू कर दिया है। NHAI की योजना 7 दिनों के भीतर बिहार के 15 जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाने की है। जिससे कोरोना डेडिकेटेड हॉस्पिटल में भर्ती मरीजों तक पाइपलाइन से ऑक्सीजन पहुंचाया जाएगा। इस संबंध मे NHAI के एक अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार वातावरण से ही ऑक्सीजन का उत्पादन किया जाएगा। साथ ही पाइपलाइन के माध्यम से कोरोना हॉस्पिटल के मरीजों तक सीधे पहुंचाया जाएगा।

कोरोना मरीज के लिए डेडिकेटेड होगा ऑक्सीजन प्लांट : इस सम्बंध में NHAI के क्षेत्रीय अधिकारी चंदन वत्स ने बताया कि विभाग के द्वारा ऑक्सीजन प्लांट लगाने के काम युद्ध स्तर पर किये जाएंगे । उन्होंने दावा किया है कि मई में अगले 7 दिनों में बिहार के इन सभी जगहों पर प्लांट लगाकर ऑक्सीजन उत्पादन शुरू करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि नवस्थापित प्लांट से उत्पादित ऑक्सीजन का उपयोग सिर्फ कोरोना मरीजों के लिए किया जाएगा। इससे कोरोना पीड़ित मरीजों को निर्बाध ऑक्सीजन आपूर्ति हो पाएगी।

एक मिनट में 960 लीटर ऑक्सीजन होगा तैयार NHAI द्वारा स्थापित ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन का उत्पादन जिओलाइट पद्धति से किया जाएगा। इस पद्धति से वातावरण में मौजूद हवा का उपयोग कर ऑक्सीजन उत्पादन किया जाता है। जिओलाइट पद्धति ऑक्सीजन बनाने की सबसे तेज प्रक्रिया है। इसके तहत प्रत्येक प्लांट से एक मिनट में 960 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होगा।इससे कोरोना से जंग लड़ने के मदद मिलेगी और ऑक्सीजन की समस्या को दूर किया जा सकेगा।

बिहार के इन जिलों में यहाँ यहाँ लगेगा प्लांट बेगूसराय के बलिया, समस्तीपुर के शाहपुर पटोरी, सहरसा के सिमरी बख्तियारपुर, पश्चिमी चंपारण के नरकटियागंज, मधुबनी के जयनगर, भोजपुर के जगदीशपुर, बक्सर से डुमराव, पटना के मसौढी, रोहतास के डेहरी ऑन सोन, वैशाली के महुआ, नवादा के रजौली, सिवान के महाराजागंज, पूर्णिया के बनमनखी, अररिया से फारबिसगंज, भागलपुर के कहलगांव

You cannot copy content of this page