एम्बुलेंस मामले में जाप सुप्रीमो पप्पू यादव पर हुए FIR पर कांग्रेस नेता ने जताया एतराज , कहा सरकार छुपाना चाहती है नाकामी

Pappu Yadav

न्यूज डेस्क : बिहार में एम्बुलेंस मामले में भाजपा सांसद सह राजीव प्रताप रूडी के ऊपर जाप सुप्रीमो राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव के आरोपों पर राजनीति गरमाई हुई है। इसके बाद सारण के एक थाने में पप्पू यादव पर एफआईआर दर्ज करवाई गयी है। इसके बाद अब जाप सुप्रीमो के समर्थन में बिहार कांग्रेस के वरीय नेता भी उतर आए हैं।

जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व सांसद राजेष रंजन उर्फ पप्पू यादव पर सारण जिला के अमनौर थाना में केस दर्ज होने पर बिहार प्रदेश युवा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त किया है। साथ ही इसकी कड़े शब्दों में निंदा की है। उन्होंने कहा की पप्पू यादव ने सारण के सांसद राजीव प्रताप रुड़ी के संसदीय मद से खरीदे गये एम्बुलेंस को छिपाकर रखने के मामले को उजागर किया है।

इस संकट की घड़ी में लोगों को सरकार की ओर से निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा प्रदान करने के बजाय एम्बुलेंस की दरें तय करती है। दूसरी ओर इतनी संख्या में पड़े एम्बुलेंस का उपयोग नहीं किया जा रहा है। इसके लिए सारण जिला के अधिकारी एवं भाजपा सांसद को जिम्मेदार ठहराते कहा की पप्पू यादव के बजाय सांसद पर मामला दर्ज होना चाहिए था। सांसद राजीव प्रताप रूडी का यह बेतुका बयान है की ड्राइवर नही है, उन्हे इस बात की जानकारी होना चाहिए की ड्राइवर और रखरखाव के बाद ही एम्बुलेंस खरीदने की प्रक्रिया होती है।

अगर बिना ड्राइवर के एम्बुलेंस की खरीद हुई है तो इस का उच्च स्तरीय जांच होना चाहिए। पूर्व अध्यक्ष ललन कुमार ने आरोप लगाया की सरकारी अस्पतालों में मरीजों के साथ हो रही अन्याय को सरकार छुपाना चाहती है। अस्पताल में मरीजों को बेड नहीं मिल रहा है, आक्सीजन का घोर अभाव है, जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी हो रहा है। एम्बुलेंस नहीं मिलने पर लोग तड़प-तड़प कर मर रहें है। इसके बावजूद जो लोग इन मरीजों की मदद कर रहे हैं, उस पर केस दर्ज कर सरकार अपनी हिटलर शाही को दर्षाता है। इस मामले की जितनी निंदा की जाये कम है।

You may have missed

You cannot copy content of this page