बिहार के गर्ल्स हॉस्टल में बुर्का पहनने का फरमान हुआ जारी, लड़कियों ने कहा शरिया कानून बर्दाश्त नहीं, किया विरोध

Burka

न्यूज डेस्क : देश में आज भी महिलाओं के साथ भेदभाव होता है। उन्हें अपने हिसाब से ढालने की कोशिश की जाती है। कभी उनके आजादी तो कभी उनके पहनावे को लेकर सवाल उठाया जाता है। ऐसा ही मामला बिहार के भागलपुर में एक गर्ल्स हॉस्टल से सामने आई है। इस हॉस्टल में अल्पसंख्यक समुदाय की छात्राओं के लिए छात्रावास अधीक्षक के द्वारा बुर्का पहनने का फरमान जारी किया गया है। इस बात से लड़कियों ने हॉस्टल कैंपस में जोरदार हंगामा किया। मालूम हो कि छात्राओं ने गुस्से में हॉस्टल गेट पर पथराव भी किया।

छात्राओं का कहना है कि ये शरिया कानून यहां बर्दाश्त नहीं करेंगे। वहीं एक छात्रा बताया कि वे हॉस्टल में जब भी पैंट पहनती हैं तो छात्रावास अधीक्षक लड़कियों को भदी गाली देती हैं। साथ ही वे छात्राओं माता-पिता को भी बेबुनियाद जानकारी देती हैं कि हम सब लड़कों से बात करते हैं। इस घटना की जानकारी मिलते ही नाथ नगर की सर्कल ऑफिसर पुलिस समहू के साथ गर्ल्स हॉस्टल पहुंच मामले को शांत किया। वहीं हॉस्टल की अधीक्षक ने लड़कियों के द्वारा लगाए सारेआरोपों से इनकार किया है। यह घटना अब जिला शिक्षा अधिकारी तक पहुंच गया है। सर्कल ऑफिसर ने कहा कि हमने छात्राओं और अधीक्षक के बयान दर्ज कर ली हैं। मामले की जांच की जा रही है। हम शीघ्र जिला शिक्षा अधिकारी को उक्त मामले की रिपोर्ट सौंप देंगे।

You may have missed

You cannot copy content of this page