पटना में 395 करोड़ ₹ की लागत से किया जा रहा है घर घर रसोई गैस वितरण का कनेक्शन, इन पांच शहरों में तैयारी शुरू

Gas Pipeline patna

न्यूज डेस्क : बिहार ( Bihar ) की राजधानी पटना( Patna ) मे गेल ( Gail ) द्वारा घरों तक पाइपलाइन के ज़रिए गैस पहुचाने का काम करवाया जा रहा है। गेल ने ये काम मार्च 2018 में शुरू किया था। कम्पनी ने दिए गए 5 साल के समय से पहले अब तक 31,500 से भी ज्यादा कनेक्शन पर काम कर लिया है। 395 करोड़ ₹ की योजना में 270 करोड़ खर्च किए जा चुके हैं। राजधानी में 31,624 लोगों को PNG( पाइप्ड नेचुरल गैस ) कनेक्शन पटना वासियों कक आवंटित किया जा चुका है।

5 शहरों के नाम पर विचार पटना में मिली सफलता के आधार पर ही अब अन्य शहरों में भी सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क जल्द से जल्द काम कर सके। इस ओर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। केंद्र सरकार ने फिलहाल पांच शहरों को इसमें प्रायोरिटी दी है। दरभंगा, मधुबनी, सुपौल, गोपालगंज, और सिवान का नाम इस लिस्ट में रखा है। और ये भी निश्चित किया गया है कि गैस पाइप लाइन का काम शुरू करने के लिए जल्द से जल्द बिडिंग हो ताकि वक़्त पर योजना का किर्यान्वयन किया जा सके। फिलहाल सिर्फ पटना में ही रसोई गैस को पाइप लाइन से घरों तक पहुँचाया जा रहा है। सदन में भी इस मुद्दे पर विचार किया गया है। उम्मीद है अन्य शहरों में भी जल्द ही काम शुरू होकर लोगो को सुविधा मिलेगी।

खपत के अनुसार आएगा बिल बताते चलें कि लोगों को इससे काफी फायदा होगा । पहली बार पाइपलाइन से गैस कनेक्शन लेने के लिए छह हजार रुपये देने होंगे। इसके बाद गैस की खपत के मुताबिक हर माह बिल आएगा। एक और विकल्प है यदि कोई उपभोक्ता एकमुश्त पूरी राशि नहीं दे सकता है तो पहली बार में 13 सौ रुपये देने होंगे। इसके बाद हर बिल में 100 रुपये अतिरिक्त सुरक्षा जमा राशि के रूप में देने पड़ेंगे । छह हजार की राशि पूरी होने पर अतिरिक्त राशि की वसूली बंद कर दी जाएगी।

यह सिस्टम सिलेंडर से 30-40 % तक होगा सस्ता वर्तमान में यदि कोई उपभोक्ता एक महीने में एक सिलेंडर का उपयोग करता है तो उसके नौ सौ से भी अधिक रुपये खर्च होते हैं। गेल की पाइपलाइन से कनेक्शन लेने के बाद एक महीने में लगभग इससे कम रुपये रुपये ही खर्च होंगे। इससे लोगों को काफी फायदा मिलने की उम्मीद है।

You cannot copy content of this page