बड़ी खबर : कोरोना को रोकने के लिए बिहार में बढ़ गया लॉक डाउन , सीएम नीतीश ने किया एलान

Lockdown Extended Bihar

न्यूज डेस्क : इस वक्त की एक बड़ी खबर सामने आ रही है. जहां बिहार में 15 मई को खत्म होने वाली लॉकडाउन की अवधि 25 मई तक बढ़ा दी गई है. आपको बता दें कि नीतीश कुमार ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर इसकी जानकारी देते हुए कहा कि बिहार में लॉक डाउन का सकारात्मक असर दिख रहा है। अधिकारियों की बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि 16 मई से 25 मई तक लॉक डाउन को बढ़ाया जाए । बताते चलें कि बिहार में बीते 5 मई को लॉक डाउन की घोषणा हुई थी जिसके बाद 15 मई तक लॉकडाउन लगा दिया गया था । इस लॉकडाउन में कुछ आवश्यक सेवाओं को छोड़के सभी चीजों को बंद किया गया था।

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने ट्वीट कर लिखा कि आज सहयोगी मंत्रीगण एवं पदाधिकारियों के साथ बिहार में लागू लॉकडाउन की स्थिति की समीक्षा की गयी। लॉकडाउन का सकारात्मक प्रभाव दिख रहा है। अतः बिहार में अगले 10 दिनों अर्थात 16 से 25 मई, 2021 तक लॉकडाउन को विस्तारित करने का निर्णय लिया गया है।

आपको बता दें कि विगत अप्रैल माह से बिहार में बढ़ रहे बेतहाशा कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए विपक्ष के कई दलों के साथ-साथ पक्ष के भी कई दलों ने बिहार में लॉकडाउन लगाने की मांग की थी । बावजूद इसके बिहार सरकार लॉकडाउन के बजाय कई प्रकार की पाबंदियां वाली गाइडलाइन लगातार तीन बार जारी किया था । हालांकि हाईकोर्ट में दायर याचिका की सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने 2 मई और 3 मई को जमकर बिहार सरकार की फटकार लगा दी थी। उसके बाद हाई लेवल मीटिंग में फैसला लेकर 5 मई से बिहार में लोक डॉन की घोषणा की गई थी।

हालांकि अभी भी वास्तविक स्थिति धरातल पर यह है कि ससबसे निचले स्तर के पदाधिकारियों के द्वारा सुस्ती बरतने के कारण लॉकडाउन अधिकांश गांव में प्रभावहीन दिख रहा है। समय रहते राज्य स्तर के पदाधिकारी और जिला स्तर के पदाधिकारियों ने इस मामले की समीक्षा कर कारगर कदम नहीं उठाए, तो लॉकडाउन लगाने के बाद भी फलाफल ग्रामीण स्तर पर शून्य दिखाता प्रतीत होगा । वहीं अब बिहार में शहरी क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण दर कम होकर ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज हो गई है। बावजूद इसके सबसे निचले स्तर के पदाधिकारी जिनके ऊपर लॉकडाउन पालन करने की जिम्मेदारी होती है वह सुस्त दिख रहे हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page