January 19, 2022

बिहार से यूपी-बंगाल जाना होगा आसान, इन 10 जिलों से होकर गुजरेगी 600 KM लंबा शानदार गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे, जानिए-रूट

gorakhpur siliguri expressway ka naksha

Gorakhpur-Siliguri Expressway : बिहार वासियों के लिए एक अच्छी खबर निकल कर सामने आई है, अच्छी इसलिए क्योंकि राज्य वासियों को एक और नया एक्सप्रेस-वे की सौगात मिलने जा रही है, आपको बता दें कि सूबे में ग्रीनफील्ड एक्स्प्रेस-वे के प्रस्ताव को केंद्र सरकार द्वारा सैद्धांतिक मंजूरी दे दी गई है। यह एक्सप्रेस-वे 600 किलोमीटर (KM) लंबा होगा। जिसमे 416 किलोमीटर लंबा हिस्सा बिहार में होगा, जो कुल 10 जिलों से होकर गुजरेगी, अभी तक इसका बजट निर्धारित नहीं किया गया है। लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि इस पर हजारों करोड़ रुपए की लागत लगाए जाने की बात चल रही है।

मालूम हो की पड़ोसी राज्य यूपी को जोड़ने के लिए निरंतर हाई स्पीड रोड के जरिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। मिडिया रिर्पोट की मानें तो एक्सप्रेस वे को सैद्धांतिक तौर पर मंजूरी दे दी गई है। बाकी के सभी औपचारिकताओं को पूरा किए जाने के बाद नए ग्रीनफील्ड एक्स्प्रेस वे का टेंडर जारी कर दिया जा सकता है। राज्य में इस एक्स्प्रेस वे के निर्माण होने से बिहार के लोगों के लिए उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में आवागमन काफ़ी आसान हो जाएगा। बता दें कि अब भी बिहार के पडोसी राज्यों से आने जाने के लिए सड़के हैं, लेकिन वे हाई स्पीड नहीं है। जिसके चलते सफ़र में काफ़ी वक्त लगता है। अब ऐसे में यदि बिहार वासियों को इस नए एक्सप्रेस वे की सौगात मिलती है तो सफ़र करने में पहले के मुकाबले अब कम समय लगेगा।

बरहाल, हो की यह गोरखपुर-सिलीगुड़ी एक्सप्रेस-वे सबसे पहले गोपालगंज में प्रवेश करेगा। फिर, बिहार के सिवान, छपरा, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, सहरसा, पूर्णिया और किशनगंज होते हुए सिलीगुड़ी तक जाएगा। जिसका पूरा हिस्सा ग्रीन फील्ड होगा। जानकारी के मुताबिक, इस एक्सप्रेस वे में किसी भी पुरानी सड़क को शामिल नहीं किया जाएगा। यह बिहार, यूपी और बंगाल के बीच व्यापारिक तौर पर भी काफ़ी लाभदायक होगा।

You cannot copy content of this page
Jaggry rice Recipe : सर्दियों में झटपट बनाएं गुड़ के चावल काजू के यह जबरजस्त 7 फ़ायदे,आइए जानें Vivo का नया स्मार्टफोन, जानिए कीमत और इसकी खूबियां घर परबनाए बंगाल का नामी मिस्टी दोई सारा अली खान ने मां संग किए महाकाल के दर्शन