भूस्वामी सर्वे शिविर में जाकर करा लें दस्तावेज की जांच नहीं तो लगाना पड़ेगा कोर्ट का चक्कर

Land

न्यूज डेस्क : बिहार सरकार की ओर से चल रहे विशेष भूमि सर्वेक्षण कार्य में जल्दबाजी दिखाई जा रही है। राज्य के 20 जिलों के 89 अंचलों में सर्वे का काम चल रहा है। जिसको लेकर बिहार सरकार के भू राजस्व मंत्री ने वहां के जमीन मालिकों से अंतिम अपील की है कि सर्वे से भीड़ में जाकर अपनी अपनी जमीन के कागजात की सही तरीके से जांच पड़ताल कर ले। 89 अंचल के लोगों से दवा आपत्ति निपटारा का काम शुरू हो गया है।

ऐसे में जो रैयत गांव में है या गांव से बाहर है सभी अपने अपने जमीन का एक बार फिजिकल वेरिफिकेशन करा लें। ऐसा सरकार के द्वारा कहा गया है । पहले चरण में अक्टूबर से शेखपुरा सुपौल और दूसरे के 40 गांव गांव के लोगों को सर्वे का नया खतियान मिलेगा। एक बार खतियान प्रकाशित हो जाएगा तो फिर जमीन के कागजात ठीक कराने के लिए सिविल कोर्ट जाना पड़ेगा । राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री रामसूरत राय ने कहा कि विशेष शिविर के माध्यम से 5227 गांव में पहले चरण में भूमि सर्वे का काम किया जा रहा है। सरकार इस पर विचार कर रही है कि खतियान प्रकाशन के 6 महीने तक जिला स्तरीय बंदोबस्त पदाधिकारी के पास अपील का मौका दिया जा सके।

You may have missed

You cannot copy content of this page