पूर्व मंत्री ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र कहा ग्रामीण चिकित्सकों को कोरोना योद्धा घोषित कर दिया जाए 1 लाख रुपए का इनाम

Shivchandra Ram

न्यूज डेस्क : बिहार सरकार के पूर्व कला और संस्कृति मंत्री शिवचंद्र राम ने बिहार सरकार से ग्रामीण चिकित्सकों को पुरस्कृत करने और उन्हें कोरोना योद्धा घोषित करने की मांग की है। पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम ने बकायदा मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर यह कहा है कि छोटे शहरों, गांव और कस्बों में ग्रामीण चिकित्सक जान जोखिम में डालकर इमानदारी से कम संसाधन के बावजूद लोगों का इलाज कर रहे हैं। जान जोखिम में डालकर लोगों को परामर्श दे रहे हैं। इलाज कर रहे और उनके इलाज से फायदा भी हो रहा है, इसलिए उनका जीवन बीमा कराया जाना चाहिए और उन्हें पुरस्कृत भी किया जाना चाहिए ताकि संसाधन के अभाव से जूझ रहे चिकित्सकों का हौसला बढ़ सके और वह इमानदारी से अपना काम कर सकें।

राजापाकड़ के पूर्व राजद विधायक और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम ने मुख्यमंत्री से यह मांग की है कि ग्रामीण चिकित्सकों को ₹1 लाख रुपये का पारितोषिक प्रदान किया जाए । साथ ही मेडिकल उपकरण और कोरोना से लड़ने के लिए तमाम उपकरणों को उन्हें उपलब्ध कराया जाए ताकि वह अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन पूरी मुस्तैदी के साथ कर सकें। एक ऐसे समय मे जब बिहार में कोरोना महामारी से निपटने में चिकित्सकों को जान गवांनी पड़ रही है और उन पर निजी हमले हो रहे हैं,ऐसे में शिवचन्द्र राम की मुख्यमंत्री से ये मांग चिकित्सकों के लिए उम्मीद की किरण बनकर आया है। जिसकी चारो तरफ प्रशंसा हो रही है।

दिल्ली में टेलीविजन पत्रकार और जयमंगला कावर फाउंडेशन के अध्यक्ष राजेश राज ने शिवचंद्र राम की मांग को जायज ठहराया है और कहा है कि इस कठिन विपदा की घड़ी में सिर्फ ग्रामीण चिकित्सक ही नहीं, बल्कि तमाम चिकित्सक प्रशंसा के पात्र हैं ,जो जान जोखिम में डालकर मरीजों का बखूबी इलाज कर रहे हैं। संसाधनों से जूझ रहे अस्पतालों में चिकित्सक परामर्श देकर भी मरीजों की जान बचाने की भरपूर कोशिश करते हैं ,जो काबिले तारीफ है। राजेश राज ने चिकित्सकों पर हो रहे निजी हमलों की निंदा की है।

You cannot copy content of this page