विदेशी महिला नेपाल के रास्ते बिहार पहुंच करती थी जिस्मफरोशी का इंटरनेशनल धंधा, घूम घूम कर

Sex

न्यूज डेस्क : बिहार के सुपौल में एक विदेशी महिला को SSB के जवानों ने गिरफ्तार कर स्थानीय पुलिस को सौंप दिया। वह महिला जिस्मफरोशी की इंटरनेशनल धंधे में शामिल है। बताते चलें कि देह व्यापार का जर पूरे विश्व में जमा रहता है। यहां भारत में भी सरकारी कोशिश और प्रशासनिक दावों के बीच देह व्यापार कमोबेश छोटे-बड़े हर शहरों में होते रहता है. हालांकि कभी-कभार प्रशासनिक स्तर के अधिकारी इसको रोकने का प्रयास भी करते हैं, लेकिन मनमाफिक सफलता हाथ नहीं लग पाती है। अमूमन ऐसा माना जाने लगा है कि जहां भी इस प्रकार के रैकेट का संचालन होता है। वहां के शहर के चुनिंदे पॉवरफुल लोग इसे कमाई का जरिया बनाते हैं, जिससे यह बेरोकटोक तरीके जारी रहता है।

भारत नेपाल बॉर्डर के रास्ते बाइक से पहुंची बिहार विदेशी महिला के गिरफ्तारी का यह मामला बिहार के बॉर्डर एरिया से आया है। जहां पर एक विदेशी महिला के व्यापार में शामिल होने की बात सामने आई । यह पूरा मामला बिहार के सुपौल जिले के बीरपुर थाना क्षेत्र का है जहां सशस्त्र सीमा बल एसएसबी की 56 वीं बटालियन ने उज्बेकिस्तान के ताशकंद की एक महिला को पकड़कर स्थानीय पुलिस को सौंप दिया । जांच उपरांत यह बात पता चला कि वह महिला सीमा क्षेत्र में चल रहे देह व्यापार में संलिप्त थी । पुलिस जांच में यह पता चला कि अररिया जिले के नरपतगंज थाना क्षेत्र के महेश पट्टी गांव निवासी कृष्णा पासवान भारत नेपाल बॉर्डर से उस महिला को बाइक पर बैठा कर भारतीय सीमा क्षेत्र में ले आया था, यही शक के आधार पर सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने महिला की गिरफ्तारी की थी ।

एसडीपीओ ने कहा – रैकेट के सरगना के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी गनीमत यह रही कि उक्त युवक चकमा देकर फरार हो गया। बाद में उसके घर पर छापेमारी की गई तो उसके घर से महिला का पासपोर्ट और नेपाल का टूरिस्ट वीजा बरामद किया गया। स्थानीय एसडीपीओ रामानंद कुमार से मीडिया को मिली जानकारी के अनुसार उक्त युवक इस रैकेट का एक छोटा सा प्यादा है यह रेकेट बड़े स्तर पर संचालित की जा रही है पुलिस ने सदस्यों की अन्य सदस्यों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि उक्त महिला टूरिस्ट वीजा से भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में दिल्ली तक आ जा चुकी है।

You cannot copy content of this page