बिहार में बाढ़ का कहर, ट्रेनों की रफ्तार पर लगी ब्रेक, कई रद्द तो कई के मार्ग बदले, देखें पूरी लिस्ट

Bihar Flood

न्यूज डेस्क : बिहार में बाढ़ की स्थिति लगातार भयावह होते जा रहे है। गंगा, गंडक, कमला, बलान, महानंदा व कोसी नदी के उफनने से बिहार के करीब 15 जिलों में बाढ़ ने विकराल रूप धारण कर लिया है। हालात, इस कदर बिगड़ गया है। कि पानी का जलस्तर धीरे-धीरे रेलवे ट्रैक तक पहुंच गया। कई स्थानों पर तो पानी छोटी-छोटी पुलिया के नीचे तक पहुंच गया है। हालांकि, अभी स्थिति खतरनाक नहीं है। लेकिन रेलवे भी सतर्क हो गया है। सतर्कता बरतते हुए रेलवे ने कई ट्रेनों की रफ्तार कम कर दी है। तो कई ट्रेनों को कैंसिल कर दिया तथा कई का रूट डायवर्ट कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक, गंगा के लगातार बढ़ते जलस्तर से भागलपुर जिले में बाढ़ के बिगड़ते हालात के चलते मालदा मंडल के 16 किमी (KM) लंबे रतनपुर-सुल्तानगंज रेलखंड के बीच रेल पुलों के निकट बाढ़ का पानी आ गया है। इसके चलते इस रेलखंड के कई एक्सप्रेस अप एवं डाउन लाइन पर ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। रेल प्रशासन ने यात्रियों के सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए भागलपुर से मुंगेर और भागलपुर से किऊल तक दोनों दिशाओं में ट्रेनों का परिचालन अस्थायी रूप से स्थगित किया गया है। वहीं, रेलवे ने पूर्व मध्य रेल के कई स्टेशनों से आगमन और प्रस्थान करने वाली कुछ ट्रेनों के परिचालन में भी अस्थायी तौर पर बदलाव किया है।

इन ट्रेनों के परिचालन रद्द की गई:

  • 03419 भागलपुर-मुजफ्फरपुर स्पेशल ट्रेन
  • 03420 मुजफ्फरपुर-भागलपुर स्पेशल ट्रेन
  • 05554 जयनगर-भागलपुर स्पेशल ट्रेन

इन ट्रेनों के मार्ग परिवर्तित की गई: 13 अगस्त को लोकमान्य तिलक टर्मिनल LTT से प्रस्थान करने वाली 05647 लोकमान्य तिलक टर्मिनल-गुवाहाटी स्पेशल ट्रेन परिवर्तित मार्ग वाया दिनकर ग्राम सिमरिया-न्यू बरौनी-कटिहार के रास्ते चलेगी। वही 13 अगस्त को दिल्ली से प्रस्थान करने वाली 05956 दिल्ली-कामाख्या स्पेशल ट्रेन परिवर्तित मार्ग वाया दिनकर ग्राम सिमरिया-न्यू बरौनी-कटिहार के रास्ते चलेगी। तथा 14 अगस्त को गया से प्रस्थान करने वाली 03024 गया-हावड़ा स्पेशल ट्रेन परिवर्तित मार्ग वाया किऊल-झाझा के रास्ते चलेगी।

बिहार में 21 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ प्रभावित हो गए: मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, बिहार में पिछले 24 घंटे के दौरान नये इलाकों में पानी फैलने से 3.5 लाख नयी आबादी बाढ़ की चपेट में आ गयी है। वही इस लिहाजा शनिवार को बाढ़ प्रभावित कुल आबादी की संख्या 20.41 लाख पहुंच गयी। ये सभी लोग उन्हीं 15 जिलों के हैं जहां बाढ़ का व्यापक असर है उन जिलों के अब 86 प्रखंडों की कुल 570 पंचायतें बाढ़ से आशिक या पूर्ण रूप से प्रभावित हो गयी है।बाढ़ से मरने वालों की संख्या भी बढ़कर सात हो गयी।

You may have missed

You cannot copy content of this page