बिहार में नीचे बाढ़ ऊपर बारिश : पटना, बेगूसराय,भागलपुर में गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर, हाथीदह में टूटा रिकॉर्ड…

Flood Bihar

न्यूज डेस्क : बिहार में गंगा, पुनपुन, सोन, गंडक सहित कई नदियों ने राज्य में अपना रौद्र रूप धारण कर लिया है। लगातार जलस्तर में बढ़ोतरी जारी है। खासकर गंगा नदी तो अपना विकराल रूप में है। पटना, बेगूसराय,भागलपुर, समेत विभिन्न जिलों के ग्रामीण क्षेत्रों में पानी प्रवेश कर चुका है। इसकी चपेट में लाखों लोग आ चुके हैं। वही, जल संसाधन विभाग से मिली सूचना के मुताबिक गंगा नदी में जल स्तर हर घंटा करीब एक सेंटीमीटर बढ़ रहा है। राज्य के करीब 22 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। वही गंगा नदी में गुरुवार की रात्रि पटना के हाथीदह ने अपना पुराना रिकॉर्ड तोड़ दिया और अब तक के सबसे उच्चतम स्तर पर यहां गंगा का जलस्तर जा पहुंचा है। हाथीदह में जलस्तर 43.18 मीटर तक पहुंच गया है। जो को साल 2016 के 43.17 मीटर के रिकॉर्ड से ऊपर था। विभाग ने अगले 24 से 48 घंटे में यहां गंगा का जलस्तर 43.47 मीटर तक जा सकता है।

नीचे बाढ़ ऊपर भरी बारिश का अलर्ट! बता दें कि बिहार एक ओर जहां भारी बाढ़ की मार झेल रहा है। तो वही दूसरी तरफ मानसून भी अपना कहर बरपा रहा है। पटना मौसम विभाग ने शुक्रवार को बिहार के 12 जिलों के लिए अलर्ट जारी किया है। बता दें कि इन जिलों में भारी बारिश और बज्रपात की आशंका जताई गई है। विभाग ने बेगूसराय, खगड़िया, सुपौल अररिया, किशनगंज, मधेपुरा, सहरसा, पूर्णिया, कटिहार, भागलपुर, बांका, जमुई, मुुंगेर में रेड अलर्ट जारी किया है। इधर बाढ़ लगातार पुराने साल का रिकॉर्ड तोड़ रहा है। बता दें कि बक्सर पटना बेगूसराय भागलपुर समेत विभिन्न जिलों में गंगा नदी का जलस्तर लगातार खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। भागलपुर में भी पुराना रिकॉर्ड टूटने वाला है। अगले 48 से 72 घंटे में अपने सारे पुराने रिकॉर्ड तोड़ सकती है। इसे देखते हुए हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है।

You cannot copy content of this page