15 दिसंबर से बिहार के विभिन्न जिले में संचालित दूरदर्शन केंद्र को किया जा रहा है बंद , जाने इसकी वजह

DD National

डेस्क : भारत में अब जल्द ही प्रसार भारती दूरदर्शन का अस्तित्व मिटने के तदार पर है , बिहार के विभिन्न जिले में संचालित दूरदर्शन केंद्र को भी अब जल्द बंद कर दिया जाएगा। 31 अक्टूबर से सहरसा के दिवारी स्थित हाई पावर दूरदर्शन ट्रांसमीटर केंद्र सहित भागलपुर एवं सीवान जिले के दूरदर्शन केंद्र बंद कर दिया जाएगा। इसके अलावा 31 अक्टूबर को ही देश के विभिन्न राज्यों के शहर में स्थापित 152 प्रसार भारती दूरदर्शन केंद्रों को बंद किया जाएगा।

जबकि साल के अंतिम दिन 31 दिसंबर को बिहार के 15 जिले में स्थित केंद्रों सहित देश के सभी प्रसार भारती दूरदर्शन केंद्रों को भी बंद कर दिया जाएगा।बिहार में इन जिलों में बंद हो जाएगा दूरदर्शन राज्य के बेगूसराय, लखीसराय, मुंगेर, सिकन्दरा और बांका जिले के दूरदर्शन केंद्र का मेंटेनेंस केंद्र भागलपुर ही है। भागलपुर में 5 सौ वाट का दूरदर्शन केंद्र तो 31 अक्टूबर से बंद हो जाएगा। लेकिन डीएमसी साल के अंत तक कार्य करेगा। बिहार के सहरसा सहित मुजफ्फरपुर और कटिहार में हाई पावर ट्रांसमीटर दूरदर्शन केंद्र चल रहे हैं। जबकि बांका, बेगूसराय, लखीसराय, मुंगेर, सिकंदरा, औरंगाबाद, गया, जमुई, नवादा, शेखपुरा, बेतिया, मोतिहारी और रामनगर में लो पावर ( एलपीटी) दूरदर्शन केंद्र है। ये सभी सेंटर इस साल 31 दिसंबर को बंद हो जाएंगे।

यह है वजह .. आपको बता दे की 1959 में दूरदर्शन की शुरुआत की गई थी। हर शहर में दूरदर्शन के प्रसारण के लिए एक रिले सेंटर बनाए गए। एंटीना के जरिए टेलीविजन पर दूरदर्शन चैनल का प्रसारण होता था। अब मौजूदा दौर में डीटीएच प्लेटफॉर्म से दूरदर्शन सहित दूसरे चैनलों का प्रसारण हो रहा है। इस कारण इन केंद्रों की जरूरत लगभग खत्म हो गई है। इसी के चलते रिले केंद्र को बंद करने का फैसला लिया गया है।

You cannot copy content of this page