बिहार में ठंड ने दी दस्तक, पारा लुढ़का लोग ठंड के कपड़े पहनने किये शुरू, बीते कुछ दिनों में अधिकतम एवं न्यूनतम पारा 4 डिग्री …..

Bihar Me thand ne di dastak

डेस्क : नवंबर के पहले हफ्ते बीतने के साथ ही ठंड ने दस्तक दे दी है। सुबह शाम लोग अब ठंड से बचने के लिए स्वेटर मफलर साल इत्यादि का का उपयोग करते हुए दिखने लगे हैं। एक रिपोर्ट की मानें तो बीते कुछ दिनों में अधिकतम एवं न्यूनतम पारा 4 डिग्री सेल्सियस से भी कम हो गया है। जिसके कारण मौसम में ठंड बढ़ गई है। बुजुर्ग बच्चे सुबह समय अग्नि का सेवन भी गांव में करने लगे हैं । …..

वही इस वर्ष में लॉकडाउन को लेकर पर्यावरण में जो स्वच्छता हुई है उसको लेकर इस साल ठंड बढ़ने के आसार हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञ बताते हैं कि शुरुआती ठंड में लोगों को बचना चाहिए ठंड की अनदेखी करने से सांस लेने में तकलीफ सर्दी जुकाम बुखार आदि कई गंभीर परेशानियों एवं बीमारियों से सामना करना पड़ सकता है। इसीलिए शुरुआती ठंड और अंत के ठंड में लोगों को सुरक्षित तरीके से ठंड से महफूज रहना चाहिए। गुलाबी ठंड के दस्तक के साथ ही इस साल पर कराके की ठंड होने की संभावना भी दिख रही है। शहर से लेकर गांव तक लोग अब ठंड से बचने को लेकर ठंड के कपड़े उनी कपरे जमा करने शुरू कर चुके हैं।

छठ पूजा में बढ़ जाएगी ठंड इस साल हिंदू पंचांग के मुताबिक मलमास महीना लगने के कारण दुर्गा पूजा भी 1 महीने विलंब से हुआ । और जिसके बाद दीपावली और छठ में भी समय अंतराल बढ़ गया ठंड ने इस बीच दस्तक दे दिया है नवंबर के आधे महीने के बाद छठ पूजा होंगे आंकड़े के लिहाज से अब तक ठंड चरम पर पहुंच चुका होगा और इस बार छठ पूजा में लोग ठंड में ही छठ मनाएंगे।

You cannot copy content of this page