Friday, July 12, 2024
Bihar

पुल गिरने की घटनाओं पर चिराग पासवान का बयान, बोले- भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई होगी

बिहार में पिछले 15 दिनों में ही 11 पुल ढह गए हैं। इसे लेकर राजनीतिक बयानबाजी चरम पर है। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव डबल इंजन की सरकार की विफलता की ओर इशारा कर रहे हैं तो सत्ताधारी दल भी पुराना इतिहास याद दिला रहा है। ताजा कड़ी में केंद्रीय मंत्री चिराग पासवान ने प्रदेश के पूर्व डिप्टी सीएम रहे तेजस्वी को भरोसा दिलाया है कि दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। पटना में केंद्रीय मंत्री चिराग पासवान ने एक सवाल के जवाब में कहा, जो लोग ये कह रहे हैं कि एनडीए सरकार लूटने में लगी है। उनसे पूछना चाहूंगा कि ये निर्माण कार्य किसके समय में हुआ? निर्माण उसी समय हुआ है जिस वक्त यह लोग (राजद) भी सरकार में थे। उन्होंने आगे कहा कि वो आरोप प्रत्यारोप की सियासत से ऊपर उठ कर काम कर रहे हैं और उनकी सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने की कोशिश में हैं।

उन्होंने कहा- हम लोग आरोप प्रत्यारोप में नहीं जा रहे। इस बात को सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी ले रहे हैं कि जिसने भी ऐसा किया है उसे बख्शा नहीं जाएगा। जिस किसी ने भी भ्रष्टाचार की वजह से गुणवत्ता के साथ समझौता किया है ऐसे हर एक दोषी को चिन्हित कर उसके ऊपर कार्रवाई होगी। शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार और डीईओ को निलंबित करने के सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, जिस विभाग में भ्रष्टाचार हुआ है। मुख्यमंत्री जी कई बार इस बात को कह चुके हैं कि वह भ्रष्टाचार से समझौता नहीं करेंगे जिस तरह से किशनगंज की घटना सामने आई तुरंत उसके ऊपर कारवाई भी हुई है।

करप्शन से कोई समझौता नहीं किया जाएगा। उन्होंने भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की बात की। बोले- हमारी सरकार आने वाले दिनों में इस बात को सुनिश्चित करेगी कि जहां पर जो भी… भले वह निर्माण कार्य को लेकर हो या किसी भी तरीके का भ्रष्टाचार हो अधिकारी हो या जो भी व्यक्ति विशेष हो, या कोई संगठन हो उसके ऊपर कार्रवाई की जाएगी। पिछले 15 दिनों में ही बिहार में 12 पुल ढह गए हैं। जिसे लेकर विपक्ष हमलावर है। तेजस्वी यादव लगातार इसे लेकर सोशल मीडिया पर एक्टिव हैं। शुक्रवार को उन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान राज्य सरकार पर तीखा हमला किया। बोले-𝟏𝟓 दिन में 𝟏𝟐 पुलों का गिरना कोई सामान्य घटना नहीं है। यह भ्रष्टाचार की पराकाष्ठा है। तेजस्वी ने आगे कहा, जिस दिन से नीतीश कुमार सीएम बने हैं, सिर्फ 18 महीने को छोड़ दें तो पूरे समय ग्रामीण कार्य विभाग जेडीयू के पास ही रहा है। बिहार में लगातार भ्रष्टाचार देखने को मिल रहा है, बिहार में लगातार अपराध की घटनाएं हो रही हैं।