RJD के पूर्व राज्य सचिव की हत्या मामले में तेजस्वी और तेजप्रताप पर एफआईआर दर्ज

डेस्क : आरजेडी एससी एसटी प्रकोष्ठ के पूर्व प्रदेश सचिव रहे शक्ति मलिक की रविवार को सुबह तीन नकाबपोश अपराधियों ने मुर्गी फार्म रोड स्थित उनके घर में घुसकर हत्या कर दी। शक्ति मलिक 40 साल के थे और उनके सिर एवं छाती में तीन गोलियां मारी। गोली लगने के बाद घर वाले उनको घायल अवस्था में ही सदर अस्पताल ले गए लेकिन कुछ ही देर बाद उनकी मौत हो गई।

इस मामले में मृतक के पिता का और पत्नी का कहना है कि उनको आरजेडी के नेता एवं पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव समेत तेजप्रताप यादव के साथ 5 ज्ञात और तीन अज्ञात पर शक है जिन पर उन्होंने प्राथमिकता भी दर्ज करवाई है। घरवालों का आरोप है कि तेजस्वी यादव तेज प्रताप यादव कालू पासवान सुनीता देवी और अनिल शाह ने मिलकर शक्ति मालिक की हत्या करवाई है।

घरवालों का कहना है कि वह रानीगंज विधानसभा से चुनाव लड़ना चाहते थे इसके लिए पार्टी की ओर से 50 लाख रुपए की मांग करी गई थी परंतु बाद में पार्टी में निकाल लिया शक्ति निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरना चाहते थे बस इसी वजह से उनकी हत्या करवा दी गई। हत्या की सूचना मिलते ही एसपी विशाल शर्मा सदर एसडीपीओ आनंद पांडे और खजांची हाट के प्रभारी सुनील कुमार मंडल ने मौके पर पहुंचकर परिजनों से बातचीत करी और उनका बयान लिया।