CM साहब.. बिहार में घूसखोरी चलता है! मैं वार्ड सचिव हूं..बिना 40% कमीशन के पैसा ट्रांसफर नहीं होता है..

Janta Darbar CM NITISH

डेस्क: बिहार के सीएम नीतीश कुमार के द्वारा हर सोमवार को पटना में जनता दरबार का आयोजन किया जाता है, जिसमें राज्य के कोई भी व्यक्ति अपनी फरियादी लेकर सीधे सीएम के पास पहुंच सकते हैं, बता दें कि आए दिन इस जनता दरबार में भ्रष्टाचार के नए-नए खुलासे होते रहते हैं, लेकिन इसी बीच बीते सोमवार को एक और नया खुलासा सामने आया है,

दरअसल, CM नीतीश कुमार के जनता दरबार (Nitish Kumar Janta Darbar) में आए एक फरियादी ने पंचायती राज में व्याप्त भ्रष्टाचार (Corruption Issue) को उजागर किया, वार्ड सचिव ने CM नीतीश कुमार से कहा कि बिना 40 प्रतिशत कमीशन के पैसा खाते में ट्रांसफर नहीं होता है, इसमें नीचे लेकर ऊपर तक के लोग शामिल हैं।

वार्ड सचिव ने बताया: “सर हम वार्ड सचिव हैं..भ्रष्टाचार रोकने की हम कोशिश में लगे हुए हैं.. साढ़े तीन साल से प्रखंड विकास पदाधिकारी (BDO) साहब रघुवंश कुमार, पंचायत सचिव रविन्दर कुमार, मुखिया जवाहर चौधरी हमें परेशान करके रख दिए हैं, कोई भी योजना में 40% कमिशन के बिना खाता में रुपया ट्रांसफर नहीं होता है, जब हम बीडीओ के पास गए तो उन्होंने कहा कि किसी को सभी करता है सिर्फ तुम्ही को परेशानी है, डांटकर भगा दिए,,निगरानी विभाग ने गिरफ्तार भी किया था। लेकिन छूट गया है।”‘

सीएम नीतीश ने दिए ये आदेश: बता दें कि जब वार्ड सचिव ने सीएम के सामने निर्भय होकर यह सब बात बोले तो सीएम भी आश्चर्यचकित हो गए, आखिर हमारे बिहार में इतना भ्रष्टाचारी कहां से पैदा हो गया, CM नीतीश कुमार ने फरियादी को संबंधित विभाग के पास जाकर अपनी समस्याओं को बताने का निर्देश दिया, बता दें कि 5 साल के बाद कोरोना काल में शुरू किए गए जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम में फिलहाल सीमित संख्या में ही लोगों को शामिल किया जा रहा है, जनता दरबार में शामिल होने के लिए लोगों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है। सीमित संख्या में लोगों को बुलाये जाने के चलते रजिस्ट्रेशन कराने के बावजूद लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

You cannot copy content of this page