बिहार की बेटी ने बनाया अद्भुत मेडी रोबोट, Covid मरीजों का इलाज करने में कारगर, ये है खूबियां

Medi Robot

डेस्क : कोरोना से लड़ने के लिए पूरे भारतवर्ष में जगह-जगह नई मेडिसिन तैयार की जा रही है। ऐसे में वैक्सीन को लेकर नई कंपनी आगे आई है, जो नए फार्मूले से वैक्सीन विकसित कर रही हैं। हाल ही में कोरोना को लेकर एंटीजन टेस्टिंग किट के साथ ही एंटीबॉडी टेस्टिंग किट भी आ गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सिंह का कहना है कि दिसंबर 2021 तक वैक्सीन की सप्लाई एक्स्पोनेंशियल तरीके से बढ़ जाएगी। बता दें कि अचानक से कोरोना वैक्सीन की वृद्धि होने के पीछे अनेकों कंपनियों के निर्माण कार्य का योगदान है।

इसी क्रम में बिहार कि राजधानी पटना में पढ़ रही इंजीनियरिंग की छात्रा आकांक्षा ने अपने पिता की सहायता से कोविड-19 से संक्रमित मरीजों से लड़ने के लिए एक नई मशीन तैयार की है जो पूरी तरह से रोबोटिक है। इस रोबोट की मदद से संक्रमित मरीज कि ग्लूकोज की मात्रा, हृदय गति, ब्लड प्रेशर, वजन, हृदय का जांच, तापमान, रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा और अन्य शारीरिक पैमाने की जांच की जा सकती है। ऐसे में यह रोबट संक्रमित मरीज को खाना-पीना, दवा और ऑक्सीजन पहुंचाने की क्षमता रखता है।

यह रोबोट नाइट विजन के माध्यम से 360 डिग्री तक घूम जाता है जिसके चलते यह चारों दिशाओं में काम करता है। पिता और पुत्री की जोड़ी ने राष्ट्रीय स्तर पर एक अलग पहचान बनाई है, जहां पर एम्स पटना के डॉक्टरों ने आकांक्षा की सराहना की है। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के बाद आकांक्षा ने गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के भीतर मानव संसाधन मंत्रालय के अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद विश्वकर्मा अवार्ड के फाइनल राउंड में जगह बनाई है। सरकार ने दावा किया है कि यह रोबोट काफी कारगर साबित हो सकता है, ऐसे में ट्रायल के लिए अगर सरकार इस रोबोट को हॉस्पिटल्स में रखना चाहती है तो वह जरूर रखें और इस्तेमाल करके देखें।

You cannot copy content of this page