बिहार में होने जा रहा है सौर ऊर्जा से 250 मेगावाट बिजली का उत्पादन , युवाओं को मिलेंगे रोजगार के अवसर

Solor Plant Bihar

डेस्क : बिहार में सरकार के सार्थक प्रयास से ज्यादा बिजली उत्पादन होने वाली है। ऐसे में बिहार सरकार का लक्ष्य है कि वह बिहार में 250 मेगावाट बिजली का उत्पादन करे। ऐसे में 250 मेगावाट बिजली का उत्पादन अगले साल तक हो जाएगा। बिजली पैदा करने के क्षेत्र में युवाओं को रोजगार मिलने की उम्मीद है। बिहार अब नवीनीकरण ऊर्जा की तरफ बढ़ रहा है। जो कंपनियां इस काम को करने के लिए आगे आएंगी, उनका चयन इसी महीने किया जाएगा। बता दें कि इस परियोजना को 25 साल तक चलाया जाएगा। यहां पर बिजली सूरज की मदद से उत्पादित होगी।

इस कार्य को पूरा करने के लिए सतलज जल विद्युत निगम, आवारा एनर्जी एनटीपीसी और एसकेपीएल आगे आए हैं। बता दें कि आने वाले समय में करीब 1250 करोड़ रूपए का निवेश बिहार में होने वाला है। इतने बड़े निवेश से साफ जाहिर होता है कि आने वाले समय में ज्यादा रोजगार देखने को मिलेंगे। ब्रेडा के मालिक एवं निदेशक आलोक कुमार का कहना है कि जल्द आने वाले समय में सारे एग्रीमेंट कंपनी द्वारा पूरे हो जाएंगे और काम शुरू हो जाएगा।

बिजली कंपनी जहां पर अपना प्लांट लगाएगी वहां पर कम से कम ढाई सौ मेगावाट बिजली का उत्पादन करेगी। बिहार में जब सुशील कुमार मोदी उपमुख्यमंत्री हुआ करते थे, तब ईस्ट इंडिया क्लाइमेट चेंज का उद्घाटन किया गया था। उद्घाटन में साफ कहा था कि 2022 तक 2000 मेगावाट सोलर बिजली का उत्पादन बिहार से होगा। लेकिन अब इस परियोजना में साफ नजर आ रहा है कि बिहार अपने निर्धारित लक्ष्य से काफी दूर है, फिलहाल देखना यह होगा कि आने वाले समय में सौर ऊर्जा कितनी उत्पादित की जाती है।

You may have missed

You cannot copy content of this page