स्मार्ट प्रीपेड मीटर पाने वाला पहला राज्य बना बिहार, 2022 तक EESL लगाएगी 23.4 लाख मीटर

Prepaid Smart Meter

न्यूज डेस्क : बिहार में बिजली चोरी रोकने के लिए विभाग ने एक अभियान छेड़ा है। यह योजना लागू होने से बिहार में बिजली चोरी से अधिकारियों को थोड़ी निजात मिलेगी। बता दें कि बिहार राज्य के स्वामित्व वाली एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (Energy Efficiency services limited) ने बिहार के हर क्षेत्रों में “स्मार्ट प्रीपेड मीटर” लगाने की योजना बनाई है। स्मार्ट मीटर लगने से विभाग समेत उपभोक्ताओं को भी कई फायदे होंगे। इस से बिजली उपभोक्ता को बिल झंझट से छुटकारा मिल जाएगा। मोबाइल की तरह रिचार्ज होने वाले इन मीटरों में जितने का रिचार्ज करोगे उतनी ही बिजली खर्च कर पाओगे।

राज्य में 23.4 लाख स्मार्ट लगाए जाएंगे : बता दे की बिहार राज्य के स्वामित्व वाली एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (Energy Efficiency services limited) ने बिहार में 23.4 लाख “स्मार्ट प्रीपेड मीटर” लगाने के लिए बिहार की दो उपयोगिताओं के साथ समझौता किया है। ईईएसएल ने एक बयान में कहा कि यह पहली बार है कि बिहार में इस पैमाने पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाए जा रहे हैं और राज्य के ऊर्जा परिदृश्य पर परिवर्तन लाएगी।

इन मुद्दों पर समझौता हुआ है: मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ईईएसएल ने अपने स्मार्ट मीटर राष्ट्रीय कार्यक्रम के तहत बिहार में 2.34 मिलियन स्मार्ट प्रीपेड मीटर की स्थापना के लिए साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (south Bihar Power Distribution Company Limited) और नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड (एनबीपीडीसीएल) के साथ समझौते पर हस्ताक्षर कर दिया है। बयान में कहा गया है कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर उपभोक्ताओं को डिमांड साइड मैनेजमेंट (डीएसएम) विकल्प प्रदान करने के साथ-साथ बिलिंग और संग्रह दक्षता में वृद्धि, संचालन और रखरखाव लागत को कम करके और सेवा की गुणवत्ता में वृद्धि करके डिस्कॉम के परिचालन प्रदर्शन को अनुकूलित करेंगे।

अधिकारियों ने यह बताया: इस सन्दर्भ में एक अधिकारी ने बताया “हमने बिहार राज्य में इस यात्रा में महत्वपूर्ण प्रगति की है, जिस वजह से इस पैमाने पर स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। सौरभ कुमार ने कहा, “निश्चित रूप से यह पूरे बिजली क्षेत्र में परिवर्तन लाने में मदद करेगा।” स्मार्ट मीटर ऑपरेशन सेंटर सूबे में लगने वाले स्मार्ट मीटर की निगरानी करेगा. यह पूरे ऑपरेशन की एकीकृत एवं केंद्रीकृत मॉनीटरिंग में मदद करेगा. केंद्रीय नियंत्रण यूनिट के तौर पर यह सेंटर स्मार्ट प्रीपेड मीटर प्रोजेक्ट को सही समय के अनुसार प्रभाव में लायेगा.

You cannot copy content of this page