बेगूसराय – मोकामा के बीच गंगा नदी पर बन रहा 6 लेन पुल 2022 में हो जाएगा तैयार, पर नहीं चल पाएगी गाड़ियां

Begusarai Mokama 6 Lane Bridge

न्यूज डेस्क : गंगा नदी पर 6 लेन सरक पुल बनके तैयार होने जा रहा है। कयास लगाया जा रहा है कि पटना को बेगूसराय से जोड़ने वाले मोकामा में स्थित राजेंद्र सेतु के समरूप तैयार हो रहे 6 लेन पुल आगामी वर्ष बन के पूर्णरूप से तैयार हो जाने की संभावना है। बता दें कि वहीं पुल के दक्षिणी भाग में बने एप्रोच रोड के निर्माण से जुड़े तकनीक समस्या अब तक सुलझा नहीं है। इस समस्या का निदान करने की जिम्मेदारी करीब एक साल पूर्व आईआईटी, गुवाहाटी को दे दिया गया था।

लेकिन अभी तक इस संदर्भ में किसी भी विशेषज्ञ की राय नहीं मिल पाई है। बतादें की बिना एप्रोच रोड के, इस छह लेन पुल के बनके तैयार हो जाने के बाद भी उसका कोई लाभ नहीं मिल पाएगा। 2.5 किलोमीटर एप्रोच रोड में 3 रोड ओवर ब्रिज की जरूरत है बतादें कि औंटा घाट-सिमरिया 6 लेन ब्रिज का दक्षिणी भाग औंटा घाट है। दक्षिणी भाग का एप्रोच रोड 2.5 किलोमीटर का है। मालूम हो कि उस 2.5 किलोमीटर के एप्रोच रोड में 3 रेलवे लाइन शामिल है। इसी कारण इन तीनो रेलवे लाइन के उपर रोड ओवर ब्रिज (ROB) का निर्माण होना है। एप्रोच रोड का निर्माण तटबंध पर कराया जाना है, लेकिन 3 रोड ओवर ब्रिज (ROB) के बनने के कारण से मेन एप्रोच रोड में तकनीकी रूप से फेर-बदल की बात सामने आई है। जिसके लिए तकनीकी परामर्श के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने आइआइटी, गुवाहाटी के साथ अग्रीमेंट किया है। इसके निर्माण कार्य में कुछ बदलाव को लेकर तकनीकी परामर्श पिछले एक साल से रुका हुआ है। जिस वजह से एप्रोच रोड के निर्माण के बिना पुल का प्रयोग सफल नहीं पाएगा।

प्रत्येक सप्ताह लिया जाना है प्रगति रिपोर्ट बतादें कि इन सभी समस्याओं को लेकर इसी साल बिगत जून में एक उच्च स्तरीय मीटिंग की गई थी।इस बैठक में तकनीकी रूप से बदलाव करने से खर्च पर क्या प्रभाव पड़ेगा, इस संदर्भ में विचार-विमर्श की गई थी। पुल बनाने वाले एजेंसी को भी बैठक में आमंत्रित किया गया था। यह बताया गया था कि इस निर्माण कार्य में प्रत्येक सप्ताह के प्रगति की रिपोर्ट भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी कार्यालय को सौंपा जाए।

You may have missed

You cannot copy content of this page