बिहार में 15 जून से पंचायत में BDO देखेंगे काम, चुनाव होगा या नहीं इस पर संशय बरकरार

Panchayat Chunav

डेस्क : बिहार ( BIHAR ) में पंचायत चुनाव ( PANCHAYAT ELECTION ) 2021 टलना तय माना जा रहा है। अब लोगों को 15 जून का इंतजार है। जब बिहार के त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के जनप्रतिनिधियों का कार्यकाल समाप्त हो जाएगा । ऐसे में लोगों में उपापोह का माहौल है कि जबतक चुनाव न हो तबतक पंचायत का काम कौन देखेंगे । हालांकि सरकार व पंचायती राज विभाग के द्वारा अबतक यह तय नहीं किया गया है। परंतु , यह चर्चा अंदरखाने खूब हो रही है। पंचायतों में प्रशासक का काम बीडीओ ही देखेंगे। पंचायत सचिव को अधिकार नहीं मिल सकेगा।

वहीं पंचायत समिति (बीडीसी) का काम बीडीओ और जिला परिषदों के विकास राशि पर निर्णय डीडीसी लेंगे। हालांकि, चुनाव होंगे या नहीं इस बात का अभी राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं किया गया है। ऐसे में पंचायती राज विभाग के द्वारा त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था के संचालन के लिए प्रशासक तैनात करने का जो प्रस्ताव तैयार किया गया है, उसका तथ्य इसी ओर इशारे कर रहे है। अधिकारियों की माने तो पंचायत सचिव को ग्राम पंचायतों के संचालन का अधिकार देने से निचले स्तर पर विकास कार्यों की मॉनिटरिंग में परेशानी आएगी।

वहीं प्रखंड और पंचायत दोनों स्तरों का काम बीडीओ करेंगे तो विकास कार्यों को जमीन पर उतारने और और उसकी मॉनिटरिंग दोनों सुविधा से हो पाएगी। दरअसल चुनाव नहीं होने की स्थिति में पंचायतों के दैनिक कार्यों के संचालन के लिए प्रशासक तैनात किए जाएंगे । जबतक राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा चुनाव को कराये जाने या नहीं कराये जाने की स्थिति तय नहीं होती है। तबतक अभी भी कुछ भी आधिकारिक बयान सम्भव नहीं है। फिलवक्त बिहार में पंचायत चुनाव टलता दिख रहा है । तो ऐसे में कयासों के बाजार लगातार गर्म हो रहे हैं।

You may have missed

You cannot copy content of this page