LNMU दरभंगा का गजब कारनामा, 100 नम्बर के पीएचडी एंट्रेंस टेस्ट में 200 नम्बर पर घोषित किया रिजल्ट

LMNU

न्यूज डेस्क : बिहार का टॉपर्स घोटाला वर्ल्ड फेमस हुआ । जिसके कई साल बाद एक प्रतियोगिता परीक्षा चर्चा का विषय बना हुआ है। जिसमें 50 – 50 नम्बर के दो पेपर की आयोजित परीक्षा में छात्रों ने कुल 100 प्राप्तांक में 150 नम्बर तक प्राप्त किये हैं। दरअसल यह पूरा मामला ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के द्वारा विगत 17 जनवरी को आयोजित पीएचडी एंट्रेंस टेस्ट ( PAT 2020 ) से जुड़ा हुआ है। आपको बताते चलें कि बिहार के दरभंगा में ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय में हुए इस प्रतियोगिता परीक्षा के कारण छात्रों में उपापोह की स्थिति उतपन्न है । यह पूरा कारनामा सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है ।

रिजल्ट आने के तय समय से एक दिन लेट आया रिजल्ट आपको बता दें उक्त पीएचडी एंट्रेंस टेस्ट के रिजल्ट की घोषणा LNMU के वेवसाइट पर 25 जनवरी को ही होना था । परंतु शाम में जब परीक्षार्थियों ने वेवसाईट चेक किया तो वेवसाईट पर एक बाद यानी 26 जनवरी को रिजल्ट घोषित होने की बात बताई जा रही थी । उस पर तकनीकी खामी के कारण रिजल्ट में देरी होने की बात कही जा रही थी । 26 जनवरी को रात के करीब आठ बजे LNMU के वेवसाइट पर PAT 2020 का परीक्षाफल प्रकाशित किया गया । जिसमें विभिन्न विषयों में उतीर्ण व अनुत्तीर्ण छात्रों के नाम , क्रमांक , प्राप्तांक के साथ अलग अलग विषयों में पीडीएफ लिस्ट वेवसाइट पर अपलोड कर दिया गया ।

कोरोनाकाल में हुई ओएमआर सीट पर आयोजित परीक्षा LNMU में कोरोनाकाल में आयोजित होने बाले PAT में ऐसा पहली बार हुआ जब पेपर 1 “क्वालिटेटिव टीचिंग & रिसर्च एप्टीट्यूड” और पेपर 2 “सम्बंधित विषय ” दोनों में एक एक नम्बर के 50 – 50 प्रश्न परीक्षार्थियों को हल करने के लिए दिए गए । दोनो पेपर के प्रश्नपत्र पर निर्देश में स्पष्ट लिखा गया था कि प्रत्येक प्रश्न एक एक अंक है। ऐसे में दोनों पेपर में कुल 100 नम्बर के परीक्षा का आयोजन किया गया । विश्वविद्यालय के द्वारा जारी किए गए रिजल्ट सीट में छात्रों को 150 नम्बर तक दिए गए । यह बात लोगों को पच नहीं रही है।

100 नम्बर के परीक्षा में 200 नम्बर पर रिजल्ट संयोग या प्रयोग दरभंगा के सियासी हल्के में कहा जाता है कि अगर आप यूनिवर्सिटी में अपनी पकड़ बनाने में कामयाब हो गए , कुछ साल के भीतर आपको लाख पति और फिर करोड़ पति बनने में समय नहीं लगेगा । विश्वविद्यालय के ही एक सीनेटर ने कहा कि हर बार घाटे का बजट पेश करने बाले विश्वविद्यालय में एक कम्प्यूटर संचालक से लेकर ऊँचे ओहदे पर बैठने बाले बाबु लोग इतना माल कमाते हैं, कि यूनिवर्सिटी का डिस्टेंस विभाग आज दम तोड़ने के कगार पर पहुंच गया है , विश्वविद्यालय के ही एक पूर्व वीसी पर अनियमितता के आरोप में जांच चल रही है।

वहीं छात्र नेताओं में भी इस बात को लेकर रोष है कि विश्वविद्यालय में सबसे उच्च लेवल के प्रतियोगिता परीक्षा में ऐसी अनियमितता महज मानवीय भूल , संयोग या फिर प्रयोग है । सूत्र के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार lnmu में आयोजित PAT 2020 में सिर्फ लिखित परीक्षा के रिजल्ट में पास करवाने के नाम पर ऊंची कीमत की बोली तक लगी है। बहरहाल आने बाले समय में क्या क्या खुलासा होंगे ये वक्त ही बताएगा । परंतु विश्वविद्यालय की इस कार्यशैली से शिक्षा जगत में काम करने बाले कार्यकर्ताओं को भष्ट्राचार की बू आने लगी है।

You cannot copy content of this page