घुस लेने के चस्का में एक एएसआई को बना दिया गया सिपाही, रेप पीड़िता से केस दर्ज करने में किया था आनाकानी

Bihar Police

न्यूज डेस्क : बिहार में भ्रष्ट पुलिस वालो के किस्से तो आपलोगों ने सुना ही होगा या कुछ लोगों को तो इसका खामियाजा भी झेलना भी परा होगा । परन्तु भरस्टाचार में लिप्त पुलिस बाले पर कारवाई की खबर सुनकर आपको हल्की राहत जरूर महससू होगी । भरस्टाचार सिस्टम में इस कदर घुसा हुआ है कि भर्स्ट कर्मियों पर गाज गिराने का सिलसिला भी विभाग के द्वारा शुरू हो गया है। ऐसी ही एक घटना बिहार के किशनगंज के गंधर्वडांगा थाने से आई है । जहां पर तैनात एक एएसआई को डिमोशन कर सिपाही बना दिया गया है। विभागीय जांच में एएसआई पर लापरवाही और भ्रष्‍टाचार में लिप्त होने का रिप5 सही पाया गया है। जिसके बाद उसका डिमोशन किया गया ।

जिस थाने में थे एएसआई उसी थाने में बन गया सिपाही दरअसल किशनगंज जिले के गंधर्वडांगा थाने के एएसआई आरडी प्रसाद को एएसआई से सिपाही बना दिया गया है। जिसके एएसआई का रुतबा धरा रह गया। उक्त एएसआई अब एक सिपाही की हैसियत से काम करेंगे। एएसआई का 6 माह पहले ही किशनगंज थाना से तबादला हुआ था। लेकिन वह अपनी आदतों में सुधार नहीं कर रहा था।

मिली जानकारी के अनुसार उक्त एएसआई ने रेप का केस दर्ज के लिए पीड़िता से पैसा मांगा था । बताया जा रहा है कि किशनगंज थाना में रहने के दौरान आरडी प्रसाद ने रेप पीड़िता का केस दर्ज नहीं कर रहा था। इसके एवज में पैसा मांग रहा था. जब इसकी शिकायत पीड़िता ने एसपी से की तो एसडीपीओ को जांच का आदेश दिया था. जांच में आरोप सही साबित होने पर एसपी ने एएसआई से सिपाही के पद पर डिमोशन कर दिया. लोगों को भी उम्मीद है कि इस तरह की कार्रवाई से पुलिसकर्मियों की आदत में सुधार होगा. जिससे आम लोगों की परेशानी कम होगी.

You cannot copy content of this page