9 February 2023

Bihar के सभी सरकारी स्कूलों को मिली सोलर पावर, अब रोशनी से चमकेंगे स्कूल..

Bihar के सभी सरकारी स्कूलों को मिली सोलर पावर, अब रोशनी से चमकेंगे स्कूल.. 1

न्यूज डेस्क: बिहार के सरकारी स्कूलों में कई तरह के सुविधाओं पर काम किया जा रहा है। हालांकि राज्य के शिक्षा व्यवस्था पर हमेशा से सवाल उठते आ रहे हैं। इसी बीच सरकार की एक योजना के तहत काफी अच्छा काम किया जा रहा है।

दरअसल, जल जीवन हरियाली अभियान के अंतर्गत राज्य के 1890 स्कूलों में रूफटॉप सोलर प्लांट लगाए गए। यह प्लांट स्कूलों की छत पर grid-connected है। विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। इसमें कहा गया कि इन सभी स्कूलों में 1230 स्कूल ऐसे भी हैं जिनका सुकृत विद्युत भार 2 किलोवाट पीक रहा है।

कनेक्शन करेगा ब्रेडा

बैठक में शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव ने बताया कि जिन जिलों में शिक्षा भवन का निर्माण हो चुका है, वहां बेसिक स्कूलों और कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों की छतों पर सोलर पावर प्लांट लगाये जायेंगे। ब्रेडा निदेशक ने बताया कि जिन भवनों में स्वीकृत बिजली लोड का कनेक्शन पांच किलोवाट पीक से ऊपर है, वहां थ्री फेज कनेक्शन लेना अनिवार्य है। ब्रेडा संबंध बनाएगी।

इस बैठक में निर्णय लिया गया कि डायट के प्रशासनिक भवनों में 15 किलोवाट पीक का हाईब्रिड सोलर पावर प्लांट लगाया जाएगा। इसके अलावा अन्य भवनों पर भी ग्रिड कनेक्टेड रूफ टॉप पावर प्लांट लगाए जाएंगे। बैठक में ब्रेडा के निदेशक ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से अनुरोध किया कि जिन स्कूलों में दो किलोवाट से कम पीक का बिजली लोड कनेक्शन है। वहां उपभोक्ता संख्या का उल्लेख किया जाना चाहिए। ताकि जिला एजेंसी को बताया जा सके।

IIT पटना करेगा विज्ञान लैब स्थापित

IIT पटना बिहार के 50 मॉडल हायर सेकेंडरी स्कूलों में अत्याधुनिक विज्ञान प्रयोगशाला स्थापित करेगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने साढ़े छह करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी है। मॉडल साइंस लैब की स्थापना दो चरणों में की जानी है। प्रथम चरण में पटना जिले के सात उच्च माध्यमिक विद्यालयों में एक करोड़ पांच लाख रुपये की लागत से विज्ञान प्रयोगशाला स्थापित की जायेगी। शेष 43 लैब दूसरे चरण में स्थापित की जाएंगी। प्रत्येक जिले में कम से कम एक मॉडल लैब स्थापित की जाए।