रॉबिनहुड’ से ‘कथावाचक’ बने पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय, कथा के दौरान बताते है IPC की धाराएं

EX DGP BIHAR

न्यूज़ डेस्क : बिहार के पूर्व डीजीपी एक बार फिर से सोशल मीडिया पर सुर्खियों में है। बता दे की इससे पहले भी वह बेबाक अंदाज के लिए जाने जाते थे। और अभी हाल ही में सोशल मीडिया पर उनका एक पोस्टर वायरल हो रहा है। जिसमें वो कथावाचक की भूमिका में दिख रहे हैं। इसी दौरान लोगों ने जूम ऐप के जरिये कथा वाचन के लिए जुड़ने का आमंत्रण दिया गया। कुछ माह पहले गुप्तेश्वर पांडे राजनीतिक गलियारों को लेकर भी खूब चर्चे में थे। पद से हटने के बाद उन्होंने जदयू (JDU) ज्वाइन कर लिया। 2020 विस‌ चुनाव में उन्हें टिकट मिलने की खूब सारी चर्चाएं चली। परंतु उन्हें टिकट नहीं मिल पाया।

प्रवचन को लेकर काफी चर्चा में है : बताते चले की गुप्तेश्वर पांडेय इन दिनों आध्यात्म में लीन दिख रहे हैं। वो अब एक नये अंदाज में सोशल मीडिया पर जनता के बीच दिख रहे हैं। साथ ही साथ वो सनातन धर्म के संत के रूप में वो परिधान धारण कर कथा भी सुनाते दिख रहे हैं। इस दौरान श्लोक और चौपाइयों को सुनाकर उसका अर्थ हिन्दी में भी सुनाते दिख रहे हैं। और लोगों को जीवन का महत्व बताते हैं। इश्वर का सिद्दांत और पाप तथा पुण्य की बात वो कथा के जरिये बताते दिखते हैं।

कथा के साथ-साथ कानून का भी पाठ पढ़ा रहे हैं: बता दें कि सोशल मीडिया पर का गुप्तेश्वर पांडे का कथा वाचन का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस दौरान वो कानून और आइपीसी (IPC) की धाराएं भी बताते नजर आ रहे हैं। कथा के दौरान वो कहते हैं आज के समय की कानून व्यवस्था इंग्लैंड की देन है। हत्या के बाद उसका उद्देश्य देखा जाता है। अगर किसी के उपर पत्थर फेंका जाए और उससे अगले की मौत हो जाती है तो उसका उद्देश्य देखा जाएगा। अगर उसके पीछे का मकसद ऐसा नहीं मिला तो वो हत्या नहीं है। आगे वो बताते हैं अगर बम बारूद पिस्तौल जुटाना अपराध नहीं है, हत्या की तैयारी और हथियार जुटाना केवल हत्या का मामला नहीं होता, हत्या करने के बाद ही उसका मुकदमा दर्ज होता है। नहीं तो वो अवैध हथियार रखने का ही केवल मामला है।

रॉबिनहुड के नाम से मशहूर है गुप्तेश्वर पांडे : सोशल मीडिया पर बेबाक बयान और अपने अंदाज में जीने वाले गुप्तेश्वर पांडे पॉलिटक्स हो या फिर बॉलीवुड सब में माहिर हैं। बता दें कि कुछ माह पहले दीपक ठाकुर नाम के एक सिंगर ने गुप्तेश्वर पांडे पर एक गाना गाया था। जिसमें एल्बम का नाम था। ‘रॉबिनहुड बिहार के’ एलबम में गुप्तेश्वर पांडेय का भरपूर गुणगान किया गया है। इसी चर्चा को लेकर पूरे बिहार में गुप्तेश्वर पांडे को रॉबिनहुड के नाम से भी जानने लगे। गाने के लिरिक्स इस प्रकार हैं- रॉबिनहुड पधारे हैं इलाका धुंआ, धुंआ होगा….।

You cannot copy content of this page