दुर्लभ बीमारी से जूझ रहे पटना के अयांश सिंह के मामले में आया नया मोड़, जानिए पिता आलोक सिंह कैसे पहुंच गए सलाखों के पीछे

Ayash Singh Father

डेस्क : बिहार के अयांश को आज कौन नहीं जानता है। अजीब रोग के चपेट में आए अयांश से जुड़े एक बात सामने आ रही है। अयांश को बचाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लेकर पैसा जुटाने के लिए मुहिम चलाया जा रहा है। इस बीच अयांश के पिता आलोक सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। बतादें कि आज से करीब 10 साल पूर्व उन पर जालसाजी के जुर्म में मुकदमा दर्ज किया गया था। उसी केस में आलोक सिंह रांची में जाके सरेंडर कर दिया,जिसके बाद उन्हें जेल ले जाया गया।

हो कि अयांश के पिता पर फर्जी ढंग से गलत जानकारी देकर लोगोंका मर्चेन्ट नेवी के शिक्षण संस्थाओं में एडमिशन करवाने का आरोप है। मालूम हो कि अयांश को ज़िन्दगी देने के लिए जो इंजेक्शन के आवश्कता है, जिसकी की कीमत 16 करोड़ है। कुछ दिनों पहले अयांश के पिता के द्वारा सोशल मीडिया मीडिया पैसे जुटाने हेतु मुहिम चलाया जा रहा है। हालांकि इस मुहिम का लाभ भी दिख रहा है। इंजेक्शन के लिए 6 करोड़ 85 लाख रुपए का इन्तेज़ाम भी हो गया है। परंतु आलोक सिंह के जेल जाते ही मोहिम की गति धीमी पर गई है। अयांश के बिरुद्ध रांची स्थित पंडरा थाना में 2011 में ही जालसाजी का मुकदमा दर्ज कराया गया था। आज करीब 10 वर्ष बाद मुकदमा का उस वक्त सामने आया जब आलोक के द्वारा अयांश की जीवन को बचने हेतु युद्ध स्तर पर लोगों के बीच मुहिम चला रहा है।

अयांश को सुई लगने तक जमानत याचिका नहीं करेंगे दायर आलोक ने जेल जाने से पूर्व कहा कि उनके द्वारा जमानत याचिका तब तक दायर नहीं किया जाएगा जब तक बेटा को जुई नहीं लग जाए। कुछ ऐसे लोग हैं जिनके द्वारा सवाल खड़े किया जा रहा हैं कि बेटे की बीमारी का हवाला देकर पैसा जुगाड़ कर रहा है। पैसा जुट जुट जाने के उपरांत विदेश में बस जाएगा। अब उन सब को को विश्वास हो जाए कि आलोक सिंह जेल में बंद है। वहीं आलोक की पत्नी नेहा सिंह ने कहा कि उन्हें इस मुकदमा के संदर्भ में जानकारी नहीं थी।

अयांश की मां नेहा ने कहा कि अब आलोक के बारे में लोगों द्वारा आपत्तिजनक टिप्पणी भी किया जा रहा है। यहां तक कि बढ़ा-चढ़ाकर की गलत अफवाह भी परोस ने की प्रयास कर रहे हैं। इस अपवाह के चलते इंजेक्शन के लिए चलाये जा रहे मोहिल पर असर दिख रहा है। नेहा सिंह के द्वारा अपील किया गया है कि लोग अयांश बचाए ये सब पर ध्यान न दें। पहले की तरफ ही अब भी अयांश के लिए मदद की राशि भेजते रहें। आगे उन्होंने बताया कि सरकारी मदद का आश्वासन दिया मात्र गया है परंतु अभी तक कुछ भी नहीं मिला।

You cannot copy content of this page