Bihar की बेटी का जलवा बरकरार – दारोगा की परीक्षा में 84% लड़कियों ने मारी बाजी, जानें –

Bihar Police

डेस्क : दंगल फिल्म का एक डायलॉग ‘म्हारी छोरियां छोरों से कम हैं के’ को बिहार पुलिस के महिला अभियार्थी ने चरितार्थ कर दिया है। बिहार पुलिस इंस्पेक्टर-सार्जेंट की शारीरिक दक्षता परीक्षा में लड़कियों ने लड़कों से बेहतर प्रदर्शन किया है। लड़कियों की संख्या दौड़ पास करने में लड़कों से करीब दोगुना अधिक है। बता दें कि ये सभी होनहार लड़कियां ग्रामीण परिवेश में रह कर अपने संघर्ष के बूते यहां तक पहुंची है। बतादें कि बिहार पुलिस में 1998 दारोगा पदों पर व 213 सार्जेंट पदों पर भर्ती की जाएगी।

मालूम हो कि शारीरिक दक्षता परीक्षा में अभियार्थियों को 5 टेस्ट देने होते हैं। इन टेस्टों में सबसे पहले दौर ली जाती है। इस दौड़ में कुल 8149 ने भाग लिया, जिसमें 3282 लड़के ही विजय प्राप्त का सकें। वहीं बात करें लड़कियों की तो 4499 ने दौड़ में हिस्सा लिया, इसमें 3804 लड़कियों ने दौड़ पास कर ली। ऐसे में दौड़ पास करने वाले लड़के – लड़कियों की प्रतिशत देखें तो लड़के केवल 40.27 फीसदी ही पास कर सकें वहीं 84.55 प्रतिशत लड़कियों। ने परचम लहराया। इसके बाद अन्य चार टेस्ट शॉटपुट, हाई व लांग जंप में भी लड़कियों का प्रदर्शन अच्छा रहा।

अधिकांश लड़कियां मध्यवर्गीय परिवार से : अधिकारियों का कहना है कि शारीरिक दक्षता परीक्षा में हिस्सा लेने वाली अधिकांश लड़कियां लड़कियां मध्य या निम्न मध्यवर्गीय परिवार से आती हैं। कई तो पहले से ही पुलिस विभाग में सिपाही पद पर तैनात हैं तो कई विवाहित महिलाएं भी बढ़ – चढ़ कर अपनी भागीदारी सुनिश्चित करती हैं। अब इन सभी अभियार्थियों के प्राणपत्र आदि जांच करने लेने और चयन प्रक्रिया के बाद चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्त किया जाएगा।

ये भी पढ़ें   महागठबंधन सरकार का हुआ कैबिनेट विस्तार, 31 मंत्रियों ने ली शपथ-ये रही पूरी लिस्ट