बिहार के 3 छात्रों ने किया दुनिया में नाम रोशन, केदारकंठा के 12,500 ऊंची चोटी पर फहराया तिरंगा..

Bihar

डेस्क: अगर हौसला बुलंद हो तो सामने का बड़ा पर्वत माला भी भी बौना नजर आता है, बस अपने हौसले में पंख लगाकर उड़ना सीखना चाहिए,, कुछ इसी पंक्ति को सीख देते हुई कर दिखाया बिहार के 3 छात्रों ने.. मजबूत इरादों के साथ निकले बिहार (Bihar) चार छात्रों ने उत्तराखंड (Uttarakhand) में सबसे ऊंची चोटी को फतह करने में कामयाबी हासिल कर ली,

बता दे की पटना विश्वविद्यालय के छात्र आयुष सुमन और गौरव व वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी के R.K शुक्ला और उनके गाइड गोपीचंद ने माउंटेन क्लाइम्बिंग (Mountain Climbing) के क्षेत्र में अपना लोहा मनवाते हुए उत्तराखंड केदारकंठा ट्रेक (Kedarkantha Trek) पर 12,500 फुट की ऊंचाई पर भारत का तिरंगा फहराने का रिकॉर्ड बना दिया,

जानकारी के लिए आपको बता दें कि केदारकंठा ट्रेक उत्तराखंड की ऊंची चोटियों में से एक है, बावजूद भी 4 बिहारी छात्रों ने इस मुकाम को हासिल कर लिया, आयुष सुमन की मानें तो इसे फतह करने में उन्हें चार दिन लग गए और इन चार दिनों में से तीन दिन सभी को जंगल में टेंट लगाकर गुजारा करना पड़ा, चोटी फतह करना काफी मुश्किल था क्योंकि पहाड़ पर जमी बर्फ पर काफी फिसलन थी।

आयुष सुमन में बताया की छोटी सी चूक हमारी जान जा सकती थी, पल भर में कई हजार फुट नीचे खाई में गिरने का भी डर था, वहीं, गौरव की माने तो इस सफर पर जाने से पहले उन्हें कई लोगों ने डराया था, कि यह असंभव है और खतरे से खाली नहीं है, लेकिन इसके बावजूद सभी ने हिम्मत नहीं हारी और मजबूत इरादों के साथ चोटी फतह करने में कामयाबी हासिल की।

बता दे की 12,500 फुट की ऊंचाई पर तिरंगा फहराने के बाद अब उनका अगला लक्ष्य माउंटेन क्लाइम्बिंग के क्षेत्र में भारत की हर ऊंची चोटी पर तिरंगा फहराना और नया इतिहास बनाना है, छात्रों की इस सफलता से विश्विद्यालय प्रशासन भी काफी खुश है और सभी को बधाई देकर गौरवान्वित महसूस कर रहा है।

You cannot copy content of this page