केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले इंदिरा गाँधी ने साम्प्रदाइकता का बीज बोया और माहौल बिगाड़ा

डेस्क : केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर से अपने बयानों के चलते चर्चा में आ गए हैं। आपको बता दें कि वह महा छठ पर्व का निरीक्षण करने अपना जिला बेगूसराय में पहुंचे हुए हैं वह इस समय दो दिवसीय दौरे पर हैं ऐसे में उन्होंने छठ के घाटों का निरीक्षण किया और सभी धार्मिक क्रियाओं में प्रशासनिक एवं राजनीतिक व्यवस्था को जांचा परखा।

ऐसे में वह लोगों से अपील करते नजर आए कि कोरोना संक्रमण से बचने के लिए जो भी एतिहाद बरतनी पड़े सभी बरतें। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पीएम मोदी के करीबी मंत्री हैं।वह कई बार ऐसे बयान देते नजर आए हैं जिनको देने के बाद उन्हें अपने बयानों को लेकर या तो माफी माँगनी पड़ती है या सफाई देनी पड़ती है लेकिन दूसरी ओर इनको यह बखूबी आता है कि किस तरह से विपक्षी नेताओं को मात देनी है वह भी बयानों के जरिए।

भारत की प्रधानमंत्री रहे इंदिरा गांधी की जयंती पर बोले कि उन्होंने सांप्रदायिकता का बीज पूरे भारतवर्ष में बो दिया है साथ ही उन्होंने 1976 में सांप्रदायिकता शब्द इस्तेमाल किया था और आज तक यह चला आ रहा है।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह बोले की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से पहले हिंदू और मुस्लिम एक होकर रहते थे और सभी पर्व एवं त्योहारों को एक साथ मनाया करते थे। लेकिन, अब कहीं हिंदू के त्यौहार में मुसलमान नहीं होते तो मुसलमानों के त्योहारों में हिंदुओं की कमी दिखती है।