जाति और धर्म की दहलीज लांघ कर बिहार के इन नेताओं ने किया प्रेम विवाह

डेस्क : वैसे तो हमारे देश में दूसरे धर्म जाति में शादी करने पर हमेशा से ही सुर्खियों में बना रहता है। यहां पर कई ऐसे प्रचलित लोग हुए हैं जिन्होंने दूसरे धर्म जाति में जाकर विवाह किया है और एक रूढ़िवाद भावना को तोड़ा है ऐसे में कई टीवी स्टार और अभिनेता हैं जो इससे जुड़े हैं। परंतु सिर्फ इस जगत के लोग ही नहीं बल्कि राजनीतिक हस्तियां भी इसमें शामिल है। काफी ऐसे प्रचलित नेता रहे हैं जिन्होंने अपने धर्म जाति से ऊपर उठकर विवाह संपन्न किया है।

जहां एक और इनके राजनीतिक विषयों की चर्चा होती है तो दूसरी और इनके अंतर्गत मसलों की चर्चा भी बनी रहती है। जैसा कि पूरा देश अब यह जान चुका है कि बिहार के दिवंगत नेता रामविलास पासवान अब हमारे बीच नहीं रहे। परंतु उनके जीवन की कहानी अपने आप में अनोखी है ऐसे में उनकी शादी की चर्चा काफी किस्से बटोर चुका है, तो आइए जानते हैं कुछ और नेताओं के बारे में जिन्होंने अपने धर्म जाति से बाहर निकलकर विवाह किया।

सुशील कुमार मोदी सुशील कुमार मोदी ने अपने धर्म जाति से बाहर निकल कर एक ईसाई धर्म की महिला जेसिका से प्रेम विवाह किया है और उनकी मुलाकात भी रामविलास पासवान की दूसरी पत्नी की मुलाकात की तरह ही हुई जहां पर दोनों सफर के दौरान मिले थे ऐसे में बिहार के उपमुख्यमंत्री जाति और धर्म को ज्यादा महत्व ना देने वाले नेताओं में शामिल है।

शाहनवाज हुसैन शाहनवाज हुसैन भी भाजपा के वरिष्ठ नेता है और उन्होंने भी धर्म और जाति से ऊपर उठकर विवाह रचाया वह कहते हैं कि उन्हें बिल्कुल भी इस धर्म जाति पर विश्वास नहीं है और उन्होंने सारे बंधनों को एक तरफ रखते हुए हिंदू धर्म की महिला से विवाह किया जिनका नाम है रेनू शर्मा। रेनू के साथ 1994 में सात फेरे ले चुके हैं और हिंदू धर्म के अनुसार पूरे विधिवत विवाह किया है। ऐसे में उनके साथ इस प्रक्रिया में बहुत रुकावट पैदा हुई। रुकावट से लड़ते हुए अपने जीवन को एक अच्छी दिशा दी और इस समय वह बेहतरीन जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

पप्पू यादव हार के नेता पप्पू यादव जो कि पूर्व सांसद रह चुके हैं उन्होंने भी धर्म जाति से बाहर निकलकर रंजीता रंजन से प्रेम विवाह रचाया है आपको बता दें कि रंजीता रंजन एक सिख धर्म से हैं और उन्होंने भी पप्पू यादव का पूरा साथ दिया और अपने आप में लोगों के आगे एक मिसाल पेश की। इस विवाह में उन्होंने परिवार समेत पूरे शहर को एकत्रित किया था।

श्याम रजक राष्ट्रीय जनता दल के नेता श्याम रजक ने भी कुछ इसी तरह का कारनामा किया जिसमें उन्होंने अपने धर्म जाति को पीछे छोड़ एक स्वर्ण जाति की महिला जिनका नाम है अलका उनसे विवाह किया यह विवाह एक प्रेम विवाह था।

राजीव प्रताप रूढ़ि पूर्व केंद्रीय मंत्री रहे राजीव प्रताप रूढ़ि ने भी जाति धर्म को पीछे छोड़ते हुए प्रेम विवाह किया उन्होंने जिनके साथ प्रेम विवाह किया उनका नाम है नीलम जो कि हिमाचल प्रदेश की रहने वाली है वह भी पेशे से एयर होस्टेस रह चुकी हैं साथ ही जब राजीव प्रताप रूढ़ि उड्डयन मंत्री बने तो नीलम ने अपनी नौकरी छोड़ दी थी।

राम विलास पासवान दिग्गज नेता रामविलास पासवान ने भी दो शादियां की थी जिसमें उनकी पहली शादी 1960 में हुई थी परंतु उन्होंने अपनी पहली पत्नी को तलाक दे दिया था और फिर एक सफर के दौरान उन्हें 1982 में रीना मिली जो कि एयर होस्टेस थी जिनसे उन्हें अभी एक बेटा चिराग पासवान है और वह इस समय लोजपा पार्टी के अध्यक्ष भी हैं आपको बता दें कि रीना हरियाणा पंजाब के निवासी थे।

You may have missed

You cannot copy content of this page