आज़ादी के पत्र में पिता लालू का सही से नाम नहीं लिख पाए तेज प्रताप , कर डाली 6 गलतियां – विपक्ष ने की फजीहत

tej pratap yadav post card mistake

tej pratap yadav post card mistake

डेस्क : इस वक्त लालू प्रसाद यादव की तबीयत खराब है। ऐसे में उनके परिवार वालों के ऊपर चिंता साफ दिख रही है। राजद सुप्रीमों लालू यादव के परिवार का हर शक्स उनकी रिहाई की मांग कर रहा है। आपको बता दें कि उनकी किडनी और फेफड़ों में संक्रमण बढ़ता जा रहा है साथ ही वह शुगर के मरीज हैं जिस कारण उनका ब्लड प्रेशर ऊपर नीचे होता रहता है।

बीते कुछ घंटों में उनकी तबीयत स्थिर जरूर हुई है लेकिन तबीयत कभी भी खराब हो सकती है। जिसके चलते उनको रिम्स अस्पताल से दिल्ली के एम्स अस्पताल भर्ती किया गया है और चिकित्सकों की निगरानी में उनका इलाज चल रहा है। हालांकि उनके घरवाले बीते 3 दिन से यह मांग कर रहे हैं कि उनको घर बुला लिया जाए क्योंकि उनकी स्थिति घर पर रहकर सही हो सकती है और लालू परिवार के सभी सदस्य उनको देखने के लिए तरस रहे हैं। ऐसे में राजद सुप्रीमो लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव एवं उनकी बहन रोहिणी ने ट्विटर पर मुहिम चलाई थी।

राजद पार्टी से तेज प्रताप यादव दोबारा लोगों के बीच मुहिम चला रहे हैं। जिसके तहत उन्होंने आज़ाद पत्र भारत के राष्ट्रपति को लिखा है जिसमें उन्होंने काफी गलतियां की है और गलतियों के चलते उनकी फजीहत हो रही है। तेजप्रताप ने मसीहा को मसिह लिख दिया है और आदरणीय श्री लालू प्रसाद जी की जगह ‘आपरणीय श्री लालु प्रसाद जी’ लिख दिया है। इस ही तरह से ‘मूल्य’ को ‘मुल्य’, ‘गरीबों’ को ‘गरीवों’ और ‘वंचित’ को ‘बंचित’ लिखा दिया है।

इस पत्र को उन्होंने आजादी पत्र नाम दिया है और यह एक पोस्ट कार्ड पर लिखा गया है जिसको राष्ट्रपति तक पहुंचाने की मांग उन्होंने की है। इस हरकत की वजह से विपक्षी दलों को मजाक उड़ाने का मौका मिल गया है।

You cannot copy content of this page