दहेज प्रथा के खिलाफ CM नीतीश का मास्टरस्ट्रोक प्लान- 40 नए DSP से शपथ पत्र लिखवाया- ब्याह में अगर 1 भी रुपया लिया तो..

119 DSP BIHAR

न्यूज डेस्क: देश में दहेज प्रथा एक मूलभूत समस्या है, जो कि दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है, देश में आए दिन न जाने कितनों बेटियों की हत्या खासकर दहेज को लेकर हो जाती है, और समाज मूकदर्शक बनकर देखता रहता है, हालांकि सरकार ने इस कुप्रथा के लिए कई सारे नियम बना है। मगर, सही वक्त पर कोई भी काम नहीं आ रहा है। बिहार के सीएम नीतीश कुमार को ही देख लीजिए सूबे में दहेज प्रथा (Dowry System) के खिलाफ कितने सख्त हैं।

यह उनके कार्य से पता लगता हैं। लेकिन इसी बीच नीतीश सरकार ने इस कुप्रथा के लिए एक बेहतरीन प्लान तैयार किया है। हाल ही में बिहार पुलिस को पिछले दिनों 40 नए पुलिस उपाधीक्षक (DSP) मिले हैं। सरकार ने सभी पुरुष और महिला डीएसपी को एक शपथ पत्र भरने को कहा है। जिसमें उन्हें एक कॉलम अनिवार्य रूप से भरने को कहा गया। जिसमें लिखा था ” वो न तो एक रूपया दहेज लेंगे, और न ही एक रुपया दहेज देंगे।

आखिर, क्या है इस शपथ पत्र में?

सीएम नीतीश कुमार ने सभी पुरुष और महिला डीएसपी को एक शपथ पत्र भरने को कहा है, जिसमें उन्हें यह अनिवार्य रूप से भरने को कहा गया। ” न तो एक रूपया दहेज लेंगे, और न ही एक रुपया दहेज देंगे। इसके अलावा इस शपथ पत्र में साफ-साफ लिखा गया है कि अगर दहेज से संबंधित कोई भी आरोप लगते हैं तो बिहार सरकार को आपको नौकरी से बर्खास्त करने का पूरा अधिकार होगा।

दोषी पाने पर नौकरी से धो बैठेंगे हाथ:

नीतीश कुमार दहेज को लेकर इतने सख्त है की उन्होंने दहेज संबंधी घोषणा पत्र में साफ लिखवाया गया है कि अगर आपके खिलाफ दहेज संबंधी कोई भी शिकायत विभाग या न्यायालय में दर्ज कराई जाती है तो नियुक्ति समाप्त करने का बिहार सरकार को पूर्ण अधिकार होगा। इसलिए अगर इन डीएसपी की नियुक्ति के बाद दहेज संबंधी किसी भी तरह की शिकायत की जांच की होगी और अगर दोषी पाए गए तो नौकरी से हाथ धोना पर जाएगा।

You may have missed

You cannot copy content of this page