केंद्र ने खोली बिहार शराब बंदी पर नितीश की पोल,48% खाते हैं खैनी और 15% पीते हैं शराब

Bihar on Liquor ban

Bihar on Liquor ban

डेस्क : बिहार में शराबबंदी की हकीकत लोगों के सामने आ चुकी है आपको बता दें कि यह जानकारी केंद्र की ओर से दी गई है जिसमें केंद्र ने नीतीश सरकार की शराबबंदी पर रिपोर्ट पेश की है। इस रिपोर्ट में केंद्र ने बताया है कि बिहार में 15% लोग शराब का सेवन कर रहे हैं इस रिपोर्ट को राज्य के सभी स्वास्थ्य मंत्री जारी करते हैं ऐसे में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने इस रिपोर्ट को सारे पैमाने ध्यान में रखते हुए जारी किया है।

रिपोर्ट के अनुसार बिहार में 48% लोग खैनी गुटखा खाते हैं और 15% लोग शराब का सेवन करते हैं गांव के इलाकों में ज्यादा शराब का सेवन चल रहा है। शहरों में शराब का सेवन काफी कम मात्रा में किया जा रहा नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे की रिपोर्ट के मुताबिक बिहार की महिलाएं भी पीछे नहीं है शराब का सेवन करने में। ग्रामीण क्षेत्रों की 0.4 %महिलाएं शराब का सेवन कर रही है और शहरी क्षेत्रों की 0.5 %शराब का सेवन कर रही हैं।

कई ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं तो शराब का व्यवसाय अपने घर से कर रही हैं। जहां पर वह अपने घर में शराब छुपा कर रखती हैं। जब शराबबंदी बिहार में चालू हुई थी तो लोग शराब को राज्य की बाउंड्री के पार से सेवन करने लगे थे ऐसे में पुलिस शुरू से ही अपनी कड़ी कार्यवाही के चलते समय समय पर शराब तस्करों का भांडा फोड़ती आ रही है। लेकिन स्वास्थ्य मंत्री के द्वारा इस रिपोर्ट ने अब सबकी आंखें खोल दी हैं।

You cannot copy content of this page