नहीं भेजेंगे “अयोध्या” को दिल्ली, बिहार के पशु प्रेमियों ने खोला मोर्चा – जानें पूरा मामला

डेस्क : इस वक्त पटना के चिड़िया घर में मौजूद गेंडा जिसका नाम अयोध्या है उस पर विवाद चालू हो गया है। दरअसल मामला यह है की 2015 में एक प्रस्ताव जारी किया गया था जिसके तहत पटना का अयोध्या गेंडा दिल्ली जाना था और बदले में दिल्ली से एक नर गैंडा और तीन शंघाई हिरन यहां आने थे। इस प्रस्ताव पर अनेकों बार चर्चा हुई और अब यह पता लग रहा है की किसी भी तरह से कोई गेंडा नहीं लाया जाएगा।

ऐसे में अब राष्ट्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण (सीजेडए) अयोध्या नाम के गेंडे को दिल्ली भेजना चाहता है। जिस पर पशु प्रेमिओं ने आवाज़ उठाई है। इस बात पर अब पटना में मौजूद संजय गांधी जैविक उद्यान पर खतरा मंडरा रहा है। इस मुद्दे पर पूर्व सीजेडए सदस्य ने भी मोर्चा खोल दिया है। जब से यह मुद्दा प्रकाशित हुआ है तब से कई अधिकारियों का चैन छिन चुका है। अधिकारीयों से जब इस बारें में पुछा गया तो उनको किसी बात का कोई अंदाजा ही नहीं था।

अब अयोध्या नाम के गेंडे पर पुनः विचार की स्थिति बन चुकी है। नई दिल्ली से भी इस बात का कड़ा विरोध हुआ है। उनका कहना है की अयोध्या नाम का एक ही गेंडा बचा है जो कई मादाओं के साथ मिलन कर सकता है। पटना के चिड़िया घर का कहना है की दिल्ली के चिड़िया घर की स्थिति खराब है और वह पटना के चिड़िया घर की स्थिति भी खराब करना चाहती है। अधिकारी की लापरवाही का असर जानवरों पर नहीं पड़ना चाहिए।