आखिर RJD ने क्यों नहीं उतारा राज्यसभा उपचुनाव में सुशील मोदी के सामने उम्मीदवार, पेश की सफाई

teja

डेस्क : बिहार में होने वाले राज्य सभा उपचुनाव में नामांकन के अंतिम तारीख बीत जाने के बावजूद राष्ट्रीय जनता दल (RJD) ने कोई उम्मीदवार नहीं उतारा। मालुम हो कि पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के निधन से राज्यसभा उपचुनाव कराये जा रहे है ताकि खाली हुई सीट पर किसी का निर्वाचन हो सके। पर सुशील मोदी के सामने RJD ने आखिर किसी को क्यों नहीं उतारा इस पर बिहार कि सियासत फिर से गरमा गई है। वैसे तो पार्टी के नेता सफाई पेश करते हुए कह रहे हैं कि वह इस उपचुनाव में भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) के खिलाफ अपना उम्मीदवार खड़ा ही नहीं करना चाहती थी, यह तो सत्ताधारी गठबंधन द्वारा फैलाया गया झूठ था, क्योंकि उसे इस बात का डर था।

साथ ही, इसके पीछे कि वजह राजद ने यह बताई है कि वह पहले से मानती रही है कि यह सीट रामविलास पासवान के निधन से खाली हुई है। लिहाजा इस पर सबसे अधिक अगर किसी की दावेदारी बनती है तो वह लोजपा की है। इसलिए राजद चाहता था इस सीट पर रामविलास पासवान की पत्नी रीना पासवान एनडीए के उम्मीदवार हो और विपक्ष में होने के बावजूद महागठबंधन उनको समर्थन देकर एक स्वस्थ लोकतंत्र की परंपरा का निर्वहन करता। लेकिन, भाजपा ने ऐसा नहीं होने दिया और यह सीट उसने अपने खाते में रखी।

आगे राजद कि ओर से यह बताया गया है कि राजद ने राज्यसभा सीट के लिए अपना उम्मीदवार खड़ा करने को लेकर आधिकारिक तौर पर कभी कोई बात कही ही नहीं । यह तो बस एनडीए के लोगों द्वारा भरम फैलाया गया था। सत्ताधारी दाल कि ओर से इस मामले को लेकर कई तरह के कयास भले ही लगाए जा रहे थे, लेकिन राजद ने जो गहन मंथन किया था वह केवल और केवल रीना पासवान को समर्थन देने तक ही सीमित था।

You cannot copy content of this page