बिहार इलेक्शन 2020 : राजग कार्यकर्ताओं के लिए राम-बाण साबित हो सकती है पीएम मोदी की पहली सभा

डेस्क : भाजपा और एन डी ए की तरफ ऐलान किया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार में आएंगे और वह जनता के आगे रैलियां पेश करेंगे। ऐसे में बिहार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंतजार है। परंतु जनता से ज्यादा इंतजार खास तौर पर राजग के कार्यकर्ताओं को है और वह इंतजार इसलिए है क्योंकि गठबंधन की एकजुटता और भाजपा-लोजपा के रिश्ते पर प्रधानमंत्री क्या कहने वाले हैं, यह अपने आप में ही विचित्र बात साबित हो सकती है।

हाल ही में लोजपा के प्रमुख चिराग पासवान की तरफ से दिए गए बयानों से काफी भ्रम फैल गया है साथ ही दूसरी ओर नितीश कुमार द्वारा भी अटकलें लगाई जा रहीं हैं। ऐसे में यह उम्मीद लगाई जा रही है कि मोदी द्वारा जनसभा करने से जनता के बीच सारी गलतफहमियां दूर हो जाएँगी। ऐसे में कार्यकर्ताओं के बेसब्री का बांध भी टूटता नजर आ रहा है क्योंकि रोहतास जिले की कुल 7 विधानसभा सीटों में 5 पर उनके ही उम्मीदवार खड़े हैं और भाजपा के मात्र 2 सीटों पर खड़े हैं।

इसके बाद खास बात यह है कि भाजपा के दो बड़े बागी नेता भी इसी क्षेत्र से जेडीयू प्रत्याशियों को सीधे मुंह चुनौती दे रहे हैं। बागी नेताओं ने सबसे पहले नाम आता है दिनारा से राजेंद्र सिंह का और सासाराम से रामेश्वर चौरसिया का। यह दोनों नेता पहले भाजपा के बड़े नेताओं में शुमार रहा करते थे। परंतु लोजपा के टिकट पर जेडीयू प्रत्याशियों के नाक में दम कर रखा है